NDTV Khabar

प्रधानमंत्री कार्यालय के आदेश के बाद भी CBI ने 10 महीने तक दर्ज नहीं की FIR

गुजरात मे रहने वाले उमेश चंद्र नाम के शख्स ने PMO के पब्लिक ग्रीवांस पोर्टल पर 14 सितंबर 2018 को एक शिकायत दर्ज कराई थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
प्रधानमंत्री कार्यालय के आदेश के बाद भी CBI ने 10 महीने तक दर्ज नहीं की FIR

सीबीआई की लापरवाही आई सामने

खास बातें

  1. PMO के नाम पर युवक से हुई थी ठगी
  2. पिछले साल का है यह पूरा मामला
  3. पीएमओ ने सीबीआई से मामला दर्ज करने कहा था
नई दिल्ली:

केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है. दरअसल, प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO)ने धोखाधड़ी से जुड़ी एक शिकायत पर सीबीआई को मामला दर्ज कर जांच शुरू करने को कहा था लेकिन सीबीआई ने PMO के दिशा-निर्देश के बाद भी एफआईआर दर्ज करने में 10 महीने का समय लगा दिया. बता दें कि गुजरात मे रहने वाले उमेश चंद्र नाम के शख्स ने PMO के पब्लिक ग्रीवांस पोर्टल पर 14 सितंबर 2018 को एक शिकायत दर्ज कराई थी.

टिप्पणियां

लालू यादव से जुड़े IRCTC घोटाले में आलोक वर्मा ने किसे की थी बचाने की कोशिश, पढ़ें CVC रिपोर्ट की पूरी डिटेल


इस शिकायत में उमेश चंद्र ने बताया कि एक युवक ने अपने आपको पीएमओ इनश्योरेन्स से जुड़ा हुआ बताकर उन्हें फोन किया और अपना नाम मैथ्यू बताया. आरोपी शख्स ने उसे लगातार कॉल किये और गलत तरीके से उनका एकाउंट नंबर और ओटीपी पता करके उनके साथ 18999 रुपए की ठगी की. मामला PMO के नाम का होने के चलते PMO दफ्तर से सीबीआई को एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू करने के लिए कहा गया था. इसके बाद भी CBI ने FIR दर्ज करने में दस महीने से ज्यादा का वक़्त लगा दिया. 



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement