NDTV Khabar

राहुल गांधी बोले- राफेल की जांच करने वाले थे CBI चीफ, इसलिए उन्हें आधी रात को हटाया गया, अभी थोड़ा न्याय मिला

राहुल गांधी ने कहा कि सीबीआई चीफ आलोक वर्मा राफेल घोटाले (Rafale Deal) की जांच करने वाले थे, इसलिए उन्हें आधी रात एक बजे हटा दिया गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राहुल गांधी बोले- राफेल की जांच करने वाले थे CBI चीफ, इसलिए उन्हें आधी रात को हटाया गया, अभी थोड़ा न्याय मिला

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी( File Photo)

खास बातें

  1. राहुल का पीएम मोदी पर निशाना
  2. कहा- राफेल की वजह से हटाए गए थे CBI चीफ
  3. बोले- राफेल से पीछा नहीं छुड़ा सकते
नई दिल्ली:

सीबीआई चीफ आलोक वर्मा (CBI Chief Alok Verma) पर आए सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court)  के फैसले के जरिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi)ने पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi)सरकार पर निशाना साधा है. राहुल गांधी ने कहा कि सीबीआई चीफ आलोक वर्मा राफेल घोटाले (Rafale Deal)की जांच करने वाले थे, इसलिए उन्हें आधी रात एक बजे हटा दिया गया. राहुल ने कहा, 'अब उनकी बहाली हो गई है. थोड़ा तो न्याय मिला, अब देखते हैं आगे क्या होता है.'

इसके साथ ही राहुल गांधी ने कहा, 'पीएम नरेंद्र मोदी राफेल मुद्दे से नहीं भाग सकते, उन्हें राफेल से कोई भी नहीं बचा सकता. सरकार ने अनिल अंबानी की मदद की है, इसके पूरे सबूत हैं.'


सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को सीबीआई चीफ आलोक वर्मा की याचिका पर सुनवाई करते हुए उनकी छुट्टी के आदेश को निरस्त कर दिया. हालांकि, साथ में ही कोर्ट ने कहा कि वे अभी नीतिगत फैसले नहीं ले पाएंगे. सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला सेलेक्ट कमेटी के पास जाएगा. सीजेआई, पीएम और नेता विपक्ष वाली यह सेलेक्ट कमेटी फैसला करेगी कि आलोक वर्मा को हटाया जाए या नहीं. सेलेक्ट कमेटी एक हफ्ते के भीतर बैठक करेगी. तब तक आलोक वर्मा रोजाना के कामकाज में प्रशासनिक फैसले लेंगे. 

सीबीआई चीफ आलोक वर्मा को मिली दफ्तर जाने की इजाजत, सुप्रीम कोर्ट के फैसले की 8 बड़ी बातें

सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर केंद्र सरकार की भी सफाई आई है. वित्त मंत्री अरुण जेटली (Arun Jaitley) ने कहा कि हमने कुछ नहीं किया, हमने सीवीसी (CVC) की सिफारिश पर छुट्टी पर भेजा था. उन्होंने कहा कि हमने सीबीआई की स्वतंत्रता, विश्वसनीयता और प्रतिष्ठा को ध्यान में रखते हुए सीवीसी की सिफारिश ईमानदारी से मानी थी और सीबीआई अधिकारी को छुट्टी पर भेजा था. सरकार सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करेगी.

CBI vs CBI: सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सरकार की सफाई: हमने CVC की सिफारिश पर भेजा था छुट्टी

बता दें, मंगलवार सुबह भी राहुल गांधी ने राफेल डील को लेकर एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि राफेल डील पर रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने संसद में झूठ बोला है. उन्होंने कहा कि एचएएल को कमजोर करने के लिए सरकार की रणनीति है कि उसे उसके पैसे मत दो और भारत की रणनीतिक क्षमताओं को खत्म करके अनिल अंबानी को गिफ्ट दे दो.

CBI vs CBI: केजरीवाल बोले- SC का फैसला प्रधानमंत्री पर कलंक, जानें- किसने क्या कहा?

मंगलवार को टि्वटर पर शेयर किए गए एक गए वीडियो में राहुल गांधी ने कहा, 'संसद में कहा गया था कि एक लाख करोड़ रुपए एचएएल को इस सरकार ने दिया है. हमने उसे चुनौती दी, अपने बयान में उन्होंने कहा कि 26,570 करोड़ रुपए एचएएल को दिए गए गए हैं. मतलब रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में सीधे तौर पर झूठ बोला है. जब पीएम नरेंद्र मोदी ने राफेल डील को रद्द करके बायपास सर्जरी की थी और नया कॉन्ट्रेक्ट तैयार किया था तो रक्षामंत्रालय के सीनियर अधिकारियों ने पीएम के दखल पर एतराज जताया था या नहीं? इस पर निर्मला जी ने कहा कि एचएएल की मदद कर रहे हैं. छोटा सा सवाल था. डासौल्ट कंपनी ने एक भी विमान डिलिवर नहीं किया है, उस कंपनी को भारत सरकार की ओर से 30 हजार करोड़ रुपए पेमेंट दे दी गई है. एचएएल कंपनी ने हवाई जहाज डिलिवर कर दिया और उनका 15,700 करोड़ रुपए नहीं दिए गए.'

राफेल डील: राहुल गांधी का फिर पीएम मोदी पर हमला: HAL को खत्म कर अनिल अंबानी को गिफ्ट देना सरकार की रणनीति

इसके साथ ही उन्होंने कहा, 'सरकार एचएएल को कम समझ रही है. अनिल अंबानी ने अपनी जिंदगी में कुछ नहीं बनाया. लेकिन एचएएल को कमजोर करने के लिए सरकार की रणनीति है कि उस पैसे मत दो. भारत की रणनीतिक क्षमताओं को खत्म कर दो और अनिल अंबानी को गिफ्ट दे दो.'

(डिस्क्लेमर : अनिल अंबानी के रिलायंस ग्रुप ने NDTV पर राफेल सौदे की कवरेज को लेकर 10,000 करोड़ रुपये का मुकदमा किया है.)​

टिप्पणियां

VIDEO- सीबीआई चीफ पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद विपक्ष के निशाने पर मोदी सरकार

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement