NDTV Khabar

मैं खुशकिस्मत हूं कि मेरा रेप नहीं हुआ, न ही मैं मरी पाई गई... : हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष के बेटे पर आरोप लगाने वाली पीड़ित

पीड़ित महिला का कहना है, 'मैं नहीं जानती थी कि मेरे साथ आज की रात क्या होने वाला है...'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मैं खुशकिस्मत हूं कि मेरा रेप नहीं हुआ, न ही मैं मरी पाई गई... : हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष के बेटे पर आरोप लगाने वाली पीड़ित

हरियाणा बीजेपी के प्रमुख सुभाष बराला के बेटे विकास बराला पर छेड़खानी का आरोप.. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. हरियाणा बीजेपी के प्रमुख सुभाष बराला के बेटे विकास बराला पर आरोप
  2. महिला ने कहा, उनका चंडीगढ़ की सड़कों पर पीछा किया, छेड़ा गया
  3. महिला ने फेसबुक पोस्ट के जरिए अपनी बात कही
नई दिल्ली: शुक्रवार रात कई किलोमीटर तक वह युवा महिला चंडीगढ़ की सड़कों पर कार दौड़ाती रही. टाटा सफारी एसयूवी में दो आदमी उसका पीछा करते रहे, यह कहना है पीड़ित महिला का. हरियाणा बीजेपी के प्रमुख सुभाष बराला के बेटे विकास बराला और उसके एक साथी को पुलिस ने एक लड़की का पीछा करने और छेड़खानी करने के आरोप में गिरफ़्तार कर लिया लेकिन फिर ज़मानत पर रिहा कर दिया गया. आरोप लगाने वाली कथित तौर पर पीड़ित महिला ने कहा, 'ऐसा लग रहा है कि मैं सौभाग्यशाली हूं कि मैं आम आदमी की बेटी नहीं हूं... मैं इसलिए भी खुशकिस्मत हूं कि न तो मेरा रेप हुआ और न ही मैं मरी हुई पाई गई.'

यह भी पढ़ें- दिल्ली : महिला से छेड़खानी और सट्टेबाजी का विरोध करने पर मामा-भांजे को मिली ये सजा

पीड़ित महिला का कहना है कि उस रात वे उसकी कार के इतना करीब अपनी कार चला रहे कि वह बुरी तरह डर गई थीं कि उनकी कार को टक्कर तक लग सकती है. पीड़ित ने कहा- मेरे हाथ कांप रहे थे... मेरी  पीठ पूरी तरह ऐंठ चुकी थी. मैं कुछ बेसुध थी.. और मेरे आंसू लगातार बह रहे थे... मैं नहीं जानती थी कि मेरे साथ आज की रात क्या होने वाला है. कौन जानता था कि पुलिसवाले आएंगे भी या नहीं... पीड़ित महिला ने अपनी फेसबुक पोस्ट में यह बात कही थी.  

यह भी पढ़ें- छेड़खानी के आरोपी ने जेल से आने के बाद पीड़ित लड़की के पिता को 24 बार चाकू घोंपा

पीड़ित लड़की का आरोप है कि विकास बराला और उसका दोस्त आशीष कुमार उनकी कार का पीछा कर रहे थे और फिर उन्होंने कार को रोकने की भी कोशिश की जिसके बाद पीड़ित लड़की ने पुलिस को फ़ोन किया और दोनों आरोपियों को गिरफ़्तार किया गया.
 
haryana girl
(पीड़ित महिला)

हालांकि बाद में पुलिस वहां पहुंची और उन दोनों को अरेस्ट किया. पुलिस के मुताबिक दोनों आरोपी शराब पिए हुए थे. इस मामले में अपहरण का आरोप भी जोड़ा गया है. चंडीगढ़ के पुलिस उपाधीक्षक सतीष कुमार ने कहा, "हमने विकास और आशीष दोनों को गिरफ्तार किया था और बाद में दोनों को जमानत पर छोड़ दिया गया."

वीडियो- यूपी में नहीं थम रहा क्राइम


टिप्पणियां
उन्होंने बताया कि शिकायकर्ता से क्षेत्र के मजिस्ट्रेट के सामने यहां बयान दर्ज कराने को कहा गया है. संबंधित लड़की एक आईएएस अधिकारी की बेटी है. उपाधीक्षक ने बताया कि भारतीय दंड संहिता की संबंधित धाराओं के तहत आरोपियों पर मामला दर्ज किया गया है.

इनपुट : ndtv.com, NDTVIndia


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement