कोरोनावायरस परीक्षण के लिए सस्ता स्वेदशी स्वाब विकसित

अनुसंधानकर्ताओं के एक दल ने पोलीमर स्वाब की सस्ती स्वदेशी प्रतिकृति बनायी है जिसका उपयोग कोरोनावायरस परीक्षण के लिए नमूने संग्रहण के लिए किया जा सकता है.

कोरोनावायरस परीक्षण के लिए सस्ता स्वेदशी स्वाब विकसित

पोलीमर स्वाब का उपयोग कोरोनावायरस परीक्षण के लिए नमूने संग्रहण के लिए किया जा सकता है.

पुणे:

अनुसंधानकर्ताओं के एक दल ने पोलीमर स्वाब की सस्ती स्वदेशी प्रतिकृति बनायी है जिसका उपयोग कोरोनावायरस परीक्षण के लिए नमूने संग्रहण के लिए किया जा सकता है. पुणे के सेंटर फॉर मैटेरियल्स फॉर इलेक्ट्रॉनिक्स टेक्नोलॉजी (सी-एमईटी) के वरिष्ठ पोलीमर वैज्ञानिक डॉ. मिलिंद कुलकर्णी ने शनिवार को कहा कि यदि इस उत्पादन के लिए मंजूरी मिल जाती है तो देश को आयातित स्वाब पर निर्भर रहने की जरूरत नहीं होगी.

परियोजना के अगुवा कुलकर्णी ने कहा, ‘‘ हम मुख्यत: टेस्टिंग किट और पोलीमर स्वाब इटली, जर्मनी और अमेरिका से आयात करते हैं. लेकिन आयात पाबंदियों और अंतरराष्ट्रीय लॉकडाउन के चलते हमें शीघ्र ही इन किट की कमी से जूझना पड़ सकता है.''


उन्होंने कहा कि यह सी-एमईटी, एसआरआई रिसर्च फॉर टिश्यू इंजीनियरिंग प्राइवेट, रंगडोर अस्पताल, भारतीय विज्ञान संस्थान, बेंगलुरू और एडिटिव मैन्यूफैक्चरिंग सोसायटी ऑफ इंडिया की संयुक्त परियोजना है. उन्होंने कहा कि प्रतिकृति नमूने आगे क्लीनिकल परीक्षण एवं जांच के लिए तैयार हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा कि बेंगलुरू स्थित रंगडोर अस्पताल के यूरोलॉजिस्ट डॉ के एन श्रीधर भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद द्वारा स्वीकृत प्रयोगशाला के साथ मिलकर इस स्वाब का परीक्षण करेंगे. उन्होंने कहा कि यह स्वाब आयातित स्वाब की तुलना में एक तिहाई सस्ता होगा.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)