बिहार चुनाव: LJP प्रमुख चिराग पासवान बोले, 'जेडीयू से एक अधिक सीट पर चुनाव लड़े बीजेपी'

बीजेपी, जेडी (यू) और एलजेपी राज्य में सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) के घटक दल हैं तथा 243 सदस्‍यीय विधानसभा चुनाव के लिये इन दलों के बीच सीट बंटवारे को लेकर बातचीत चल रही है.

बिहार चुनाव: LJP प्रमुख चिराग पासवान बोले, 'जेडीयू से एक अधिक सीट पर चुनाव लड़े बीजेपी'

चिराग पासवान ने इस समय नीतीश सरकार के खिलाफ हमलावर रुख अपना रखा है

खास बातें

  • चिराग पासवान ने बीजेपी प्रमुख से किया यह अनुरोध
  • एलजेपी-जेडीयू के बीच इस समय जारी है जुबानी जंग
  • इस समय नीतीश सरकार के खिलाफ आक्रामक हैं चिराग
नई दिल्ली:

Bihar Assembly Elections 2020: लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के प्रमख लोजपा प्रमुख चिराग पासवान (Chirag Paswan) ने बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से अनुरोध किया है कि आगामी बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar polls) में भगवा पार्टी को, जनता दल यूनाइटेड (JD-U) से एक ज्‍यादा सीट पर अपना उम्मीदवार उतारना चाहिए. उधर बुधवार को लोजपा नेताओं की एक बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की आलोचना की गई. एलजेपी के सूत्रों ने कहा कि पासवान ने मंगलवार को नड्डा से मुलाकात की और उन्हें सुझाव दिया कि भाजपा (BJP) को नीतीश नीत जेडी (यू) से एक सीट अधिक पर चुनाव लड़ना चाहिए. बीजेपी, जेडी (यू) और एलजेपी राज्य में सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) के घटक दल हैं तथा 243 सदस्‍यीय विधानसभा चुनाव के लिये इन दलों के बीच सीट बंटवारे को लेकर बातचीत चल रही है.

मनोज बाजपेयी के गाने को ट्वीट कर चिराग पासवान ने नीतीश कुमार पर कसा तंज

वर्ष 2019 में हुए लोकसभा चुनावों में जेडीयू और बीजेपी ने 2019 का लोकसभा चुनाव 17-17 सीटों पर लड़ा था जबकि शेष छह सीटें एलजेपी के लिए छोड़ी थी. जेडीयू का मानना है कि उसे विधानसभा चुनाव लड़ने के लिये बीजेपी से अधिक सीटें मिलनी चाहिए क्योंकि भगवा पार्टी की तुलना में उसकेअधिक विधायक हैं. हालांकि, बीजेपी ने सीटों की अपनी संभावित हिस्सेदारी पर कोई आधिकारिक टिप्प्णी नहीं की है.

बिहार में चुनाव से पहले नीतीश कुमार और चिराग में बढ़ती तल्खी के क्या हैं मायने ?

गौरतलब है कि एलजेपी और जेडीयू के बीच इस समय जुबानी जंग चल रही है और नीतीश नीत बिहार सरकार की कार्यशैली को चिराग पासवान अक्सर निशाना बनाते रहे हैं. बुधवार को हुई लोजपा नेताओं की बैठक में नीतीश के शासन की काफी आलोचना की गई जबकि राज्य के लिये कई विकास परियोजनाएं पेश करने को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना की गई. कुछ नेताओं ने तो यहां तक कहा कि पार्टी को आगामी चुनाव में जेडीयू के खिलाफ चुनाव लड़ना चाहिए. सूत्रों ने बताया कि एलजेपी ने बाढ़ की स्थिति, कोरोना वायरस महामारी और प्रवासी संकट से निपटने के बिहार सरकार के तौरतरीकों की भी आलोचना की.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

नीतीश बताएं कि 15 साल सीएम रहने के बाद भी पटना सबसे गंदा शहर क्यों: चिराग पासवान



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)