Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

नागरिकता कानून का विरोध: आजमगढ़ में भी प्रदर्शन रोकने पहुंची पुलिस तो हुआ पथराव, किया गया लाठीचार्ज, इंटरनेट बंद

उधर, प्रतापगढ़ में निषेधाज्ञा का उल्लंघन कर इस कानून के खिलाफ प्रदर्शन करने की कोशिश के आरोप में पांच लोगों को गिरफ़्तार कर लिया गया.

नागरिकता कानून का विरोध: आजमगढ़ में भी प्रदर्शन रोकने पहुंची पुलिस तो हुआ पथराव, किया गया लाठीचार्ज, इंटरनेट बंद

नागरिकता कानून के खिलाफ देशभर में प्रदर्शन हो रहे हैं.

लखनऊ:

नागरिकता (संशोधन) कानून के खिलाफ उत्तर प्रदेश के मऊ जिले में सोमवार शाम हिंसा भड़कने के अगले दिन पड़ोस के आजमगढ़ जिले में भी लोगों ने प्रदर्शन और पथराव किये. पुलिस सूत्रों ने यह जानकारी दी. उधर, प्रतापगढ़ में निषेधाज्ञा का उल्लंघन कर इस कानून के खिलाफ प्रदर्शन करने की कोशिश के आरोप में पांच लोगों को गिरफ़्तार कर लिया गया. वहीं, अलीगढ़ में अब स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है, मगर पिछले 3 दिन से बंद इंटरनेट सेवाएं निलंबित हैं. 

पुलिस सूत्रों ने बुधवार को बताया कि मंगलवार शाम आजमगढ़ के मुबारकपुर कस्बे में सीएए के विरोध में स्थानीय लोगों और छात्रों ने प्रदर्शन किया. उन्हें रोकने पहुंची पुलिस पर पथराव भी हुआ. पुलिस ने हल्का बलप्रयोग कर प्रदर्शनकारियों को खदेड़ दिया. उन्होंने बताया कि इससे पहले सोमवार को भी शहर कोतवाली क्षेत्र में शिबली कॉलेज के बाहर भी भड़काऊ प्रदर्शन किया गया था. सूत्रों के मुताबिक इस प्रदर्शन में मुबारकपुर से बसपा विधायक शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली भी मौजूद थे. इन दोनों घटनाओं को लेकर मामले दर्ज किए गये हैं.

नागरिकता कानून पर प्रदर्शन को लेकर चीनी महावाणिज्य दूत बोले- यह भारत का आंतरिक मामला

पुलिस अधीक्षक त्रिवेणी सिंह ने बताया कि वीडियो फुटेज के आधार पर आजमगढ़ शहर में 20 और मुबारकपुर में 30 लोगों को चिह्नित किये गये हैं. मुबारकपुर में 10 लोगों को हिरासत में लिया गया है. इस बीच, जिलाधिकारी नागेन्द्र प्रसाद सिंह ने बताया कि सोशल मीडिया पर चल रही अफवाहों के मद्देनजर आज दोपहर जिले में इंटरनेट सेवाएं अगले आदेश तक बंद कर दी गयी हैं. जिले में अब हालात सामान्य हैं. दिल्ली में जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्रों पर हाल में हुई पुलिस कार्रवाई के विरोध में आजमगढ़ से सटे मऊ जिले के दक्षिणटोला में प्रदर्शन के दौरान सोमवार शाम हिंसा भड़की थी. प्रदर्शनकारियों ने दक्षिणटोला थाने में जमकर तोड़फोड़ करते हुए उसमें आग लगाने की भी कोशिश की थी. 

नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे मद्रास यूनिवर्सिटी के छात्रों को कैम्पस से बाहर ले गई पुलिस

वहीं, गत रविवार को अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में हुई हिंसा के बाद आज बन्ना देवी थाना क्षेत्र के सराय रहमान और दिल्ली गेट थाना क्षेत्र के शाह जमाल इलाके में सीएए के खिलाफ छुटपुट प्रदर्शन हुए. हालांकि जिले के वरिष्ठ अधिकारियों को अपना-अपना ज्ञापन सौंपने के बाद प्रदर्शनकारियों ने प्रदर्शन समाप्त कर दिया. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरी ने बताया कि जिले में स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है और कहीं कोई अप्रिय घटना नहीं हुई. हालांकि जिले में पिछले 3 दिन से बंद इंटरनेट सेवाएं अभी शुरू नहीं हुई है. 

नागरिकता कानून का विरोध: बंगाल में जनजीवन हुआ सामान्य, कुछ इलाकों में हुई इंटरनेट बहाली

उधर, प्रतापगढ़ से प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक जिले में धारा 144 के तहत लागू निषेधाज्ञा का उल्लंघन कर सीएए के खिलाफ प्रदर्शन करने के आरोप में 5 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया इनमें एआईएमआईएम के जिला अध्यक्ष इसरार अहमद भी शामिल हैं.

VIDEO: रवीश कुमार का प्राइम टाइम: हार्वर्ड और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के छात्र भी आए जामिया के समर्थन में



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)