Citizenship Bill: असम में बिल के विरोध में तेज हुआ बवाल, पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर चलाई गोली

नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस ने लालुंगगांव में गोलियां चलाई. इसमें कुछ लोग कथित तौर पर घायल हो गए.

Citizenship Bill: असम में बिल के विरोध में तेज हुआ बवाल, पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर चलाई गोली

असम में नागरिकता बिल का पुरजोर विरोध हो रहा है.

खास बातें

  • CAB के विरोध में असम में हिंसक प्रदर्शन
  • नागरिकता बिल को रद्द करने की उठी मांग
  • पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर चलाई गोली

नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस ने लालुंगगांव में गोलियां चलाई. इसमें कुछ लोग कथित तौर पर घायल हो गए. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने दावा किया कि प्रदर्शकारियों ने पुलिसकर्मियों पर पत्थरबाजी की और ईंटे फेंकीं और पुलिस ने जब उन्हें शांत कराने की कोशिश की तो ये लोग वहां से नहीं हटे.

अधिकारी ने गोलीबारी में घायल लोगों की संख्या नहीं बताई लेकिन प्रदर्शनकारियों का दावा है कि कम से कम चार लोग घायल हुए हैं. गुवाहाटी में प्रदर्शनकारी कर्फ्यू का उल्लंघन करते हुए इस विधेयक के विरोध में बृहस्पतिवार को सड़कों पर उतरे. गुवाहाटी, डिब्रूगढ़, जोरहाट और तिनसुकिया में सेना के जवानों ने फ्लैगमार्च किया है. सेना ने एक बयान में कहा कि सेना के पांच कॉलम के लिए अनुरोध किया गया था और यह असम में तैनात हैं.

नागरिकता संशोधन बिल के विरोध को देखते हुए त्रिपुरा के कई हिस्सों में सेना तैनात, असम में स्टैंडबाई पर रखी गई

असम के प्रभावशाली छात्र संगठन आसू और किसान संगठन केएमएसएस ने लोगों से कर्फ्यू का उल्लंघन करने का आह्वान किया है. गुवाहाटी में बुधवार शाम से अनिश्चितकाल के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया है. प्रदर्शनकारियों ने अम्बरोई क्षेत्र में वरिष्ठ भाजपा नेता हेमंत बिस्वा सरमा का पुतला जलाया. वहीं कॉटन विश्वविद्यालय और हंदीक गर्ल्स कॉलेज के विद्यार्थी भी कैब के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं. एक प्रदर्शनकारी ने कहा, 'यह हमारे अस्तित्व की लड़ाई है.'

सभी यात्री ट्रेनें निलंबित
नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ असम और त्रिपुरा में हो रहे हिंसक विरोध प्रदर्शनों का असर यातायात पर पड़ रहा है. रेलवे ने असम और त्रिपुरा आने-जाने वाली सभी यात्री ट्रेनों को निलंबित कर दिया और लंबी दूरी वाली ट्रेनों को गुवाहाटी में ही रोका जा रहा है. वहीं विमानन कंपनी इंडिगो ने डिब्रूगढ़ आने-जाने वाली सभी फ्लाइट्स कैंसल कर दी हैं. कंपनी ने यात्रियों को इसके लिए अल्टरनेट फ्लाइट लेने या रिफंड की पेशकश की है. पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे के प्रवक्ता सुभानन चंदा ने बताया कि सुरक्षा स्थिति को देखते हुए यह फैसला बुधवार रात में लिया गया,  जिसके बाद कई यात्री कामाख्या और गुवाहाटी में फंस गए. बुधवार रात गुवाहाटी में अनिश्चितकाल के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया था क्योंकि यहां प्रदर्शनकारियों ने असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल और केंद्रीय मंत्री रामेश्वर तेली के घर को निशाना बनाया था.

सेना ने निकाला फ्लैग मार्च
असम में नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए लोगों ने गुरुवार सुबह कर्फ्यू का उल्लंघन किया. साथ ही राज्य में स्थिति तनावपूर्ण बनी रही और इस दौरान सेना ने फ्लैग मार्च भी किया. 'कैब' (CAB) के खिलाफ लगातार हो रहे प्रदर्शन के बाद गुवाहाटी में बुधवार रात अनिश्चितकाल के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया था. चार स्थानों पर सेना के जवानों को तैनात किया गया है, जबकि बुधवार को त्रिपुरा में असम राइफल्स के जवानों को तैनात भी किया गया था. पूर्वोत्तर में असम और त्रिपुरा में नागरिकता संशोधन बिल को लेकर अफरातफरी की स्थिति बनी हुई है. अखिल असम छात्र संगठन (आसू) ने गुवाहाटी में सुबह 11 बजे से विरोध प्रदर्शन का आह्वान किया है. वहीं, कृषक मुक्ति संग्राम समिति ने लोगों से अपील की है कि वह सड़कों पर उतरें और शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करें. बुधवार रात कर्फ्यू के बावजूद लोग सड़कों पर निकल आए थे. सेना ने शहर में बृहस्पतिवार सुबह फ्लैग मार्च निकला.

Newsbeep

VIDEO: नागरिकता संशोधन बिल पर सदन में छिड़ा धर्मयुद्ध

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)