महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों पर बोले CM उद्धव, अगर लोग परहेज नहीं करेंगे तो सरकार लेगी 'कड़े फैसले'

राज्य कैबिनेट की साप्ताहिक बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए ठाकरे ने लोगों से गैर जरूरी यात्रा नहीं करने और बिना वजह एक जगह जमा नहीं होने की अपील भी की.

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों पर बोले CM उद्धव, अगर लोग परहेज नहीं करेंगे तो सरकार लेगी 'कड़े फैसले'

महाराष्ट्र में अबतक 40 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई और एक मरीज की मौत हुई है

मुंबई:

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को कहा कि अगर लोग गैर जरूरी यात्रा करने से परहेज नहीं करेंगे तो सरकार बस और ट्रेन सेवाओं को बंद करने का ‘कड़ा फैसला' लेने पर मजबूर हो जाएगी.राज्य कैबिनेट की साप्ताहिक बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए ठाकरे ने लोगों से गैर जरूरी यात्रा नहीं करने और बिना वजह एक जगह जमा नहीं होने की अपील भी की. उन्होंने कहा कि सरकारी दफ्तरों में सात दिन की कोई छुट्टी नहीं है, जैसा मीडिया के एक तबके में खबर दी गई है. ठाकरे ने कहा कि प्रशासन 50 फीसदी क्षमता के साथ सरकारी कार्यालयों को काम करने की इजाजत देने पर काम कर रहा है. 

Coronavirus : महाराष्ट्र में रोगियों की संख्या 17 हुई, नाट्य गृह, जिम और स्विमिंग पूल किए बंद

उन्होंने कहा कि मंगलवार तक महाराष्ट्र में कोरोना वायरस से 40 लोग संक्रमित हुए हैं। एक व्यक्ति की मौत हुई है. ठाकरे ने कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित 39 मरीजों की हालत स्थिर है जबकि एक की स्थिति गंभीर है. संक्रमित लोगों में 26 पुरुष और 14 महिलाएं हैं. उन्होंने कहा कि कैबिनेट बैठक में राज्य की मौजूदा हालत और कोरोनो वायरस को फैलने से रोकने के लिए उठाए गए कदमों पर चर्चा की गई. ठाकरे ने कहा, ‘‘ मुंबई में सरकारी कार्यालयों और सार्वजनिक परिवहन को बंद नहीं किया जाएगा. अगर लोगों ने संयम नहीं बरता और गैर जरूरी यात्रा करने से परहेज नहीं किया तो हम कड़े फैसले लेने पर बाध्य हो जाएंगे.''उन्होंने कहा, “ महाराष्ट्र में अबतक 40 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई और एक मरीज की मौत हुई है. 39 मरीजों की हालत स्थिर है जबकि एक की हालत गंभीर है. मरीजों में 26 पुरुष और 14 महिलाएं शामिल हैं.”

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

CM उद्धव ठाकरे अयोध्या गए तो BJP ने की आलोचना, अब शिवसेना ने दिया जवाब

मुख्यमंत्री ने कहा कि पुणे में दुकानदारों का अपनी दुकानों को बंद रखने का फैसला उनका खुद का है और अन्य लोग भी इसका अनुकरण करें तो अच्छा है. उन्होंने कहा, “ यह अच्छा रहेगा कि अन्य शहरों के दुकानदार भी अपनी दुकानों को खुद बंद रखें, लेकिन इसमें किराने के सामान रखने वाले जैसे जरूरी सेवाओं के दुकानदार शामिल नहीं हों.” ठाकरे ने कहा कि सरकार ने बस और ट्रेन सेवा को बंद रखने का अबतक फैसला नहीं किया है। उन्होंने कहा, “ यह जरूरी सेवाएं हैं और हमारी इन्हें बंद करने की मंशा नहीं है. यातायात काफी कम हुआ है. लोग सिर्फ आपात स्थिति में ही अपने घरों से बाहर निकलें.”उन्होंने कहा कि अगले 15 दिन अहम हैं। लोगों को आत्म-अनुशासन में रहने की