जज लोया केस: कांग्रेस और राहुल गांधी की साजिश बेनकाब, न्यायपालिका से मांगें माफी - बीजेपी

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने सुप्रीम कोर्ट की पीआईएल के पीछे अदृश्य चेहरे वाली टिप्पणी पर कहा कि यह अदृश्य चेहरा कोई और नहीं बल्कि कांग्रेस पार्टी और राहुल गांधी हैं.

जज लोया केस: कांग्रेस और राहुल गांधी की साजिश बेनकाब, न्यायपालिका से मांगें माफी - बीजेपी

सुप्रीम कोर्ट (फाइल फोटो)

सुप्रीम कोर्ट द्वारा जज लोया की मौत की SIT जांच से इनकार करने और मौत को स्वभाविक बताने के बाद बीजेपी ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला है. पार्टी ने कहा कि इस मामले में पीआईएल के पीछे कांग्रेस और राहुल गांधी का हाथ था. उन्होंने जानबूझकर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को बदनाम करने की साजिश रची. कांग्रेस ने न्यायपालिका के राजनीतिकरण का प्रयास किया. इसके लिए न्यायपालिका से माफी मांगनी चाहिए. 

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने सुप्रीम कोर्ट की पीआईएल के पीछे अदृश्य चेहरे वाली टिप्पणी पर कहा कि यह अदृश्य चेहरा कोई और नहीं बल्कि कांग्रेस पार्टी और राहुल गांधी हैं. उन्होंने अमित शाह के खिलाफ साजिश रची है. आज उनका चेहरा शर्म से झुक जाना चाहिए.

संबित पात्रा ने कहा कि राहुल गांधी लोगों का भरोसा खो चुके हैं. वह गुजरात में पीएम मोदी और अमित शाह को बदनाम करना चाहते हैं. इसीलिये षडयंत्र रचा, लेकिन इसका पर्दाफाश हो चुका है. 

इसे भी पढ़ें - जज लोया की मौत की जांच नहीं, सुप्रीम कोर्ट ने याचिकाकर्ता को लगाई कड़ी फटकार, फैसले की 10 बातें 

Newsbeep

दूसरी तरफ बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष अमित शाह का पूरे मामले से कोई लेना-देना नहीं था. कांग्रेस पार्टी इस बात को जानती थी. इसके बावजूद उनके चरित्र हनन का प्रयास किया गया. अब वे लोग सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर ऊंगली उठा रहे हैं. क्या राहुल गांधी न्यायपालिका से बड़े हो गए हैं. कांग्रेस को अपनी गलती मान लेनी चाहिए और पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


राहुल गांधी देश से माफी मांगें ः योगी अादित्यनाथ 
यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जज लोया पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है. उन्होंने कहा कि एक बार फिर  कांग्रेस बेनकाब हुई है. राहुल गांधी को देश से माफी मांगनी चाहिए. उन्होंने देश में एेसा माहौल बनाने की कोशिश की जिससे  लोगों में सरकार के प्नति नकारात्मकता फैले.