NDTV Khabar

मणिशंकर अय्यर ने पीएम मोदी को कहा 'नीच', राहुल गांधी ने कहा माफी मांगें

राहुल गांधी पर तंज कसते हुए मोदी ने कहा कि आजकल कुछ लोगों को ‘बाबा साहब’ नहीं बल्कि ‘बाबा भोले’ याद आ रहे हैं. इस पर मणिशंकर अय्यर ने कहा कि अंबेडकर जी की सबसे बड़ी ख्‍वाहिश को जवाहर लाल नेहरू ने ही साकार किया. इस परिवार के बारे में कैसी गंदी बात कही जबकि अंबेडकर जी की याद में एक इमारत का उद्घाटन हो रहा था.

1.2K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
मणिशंकर अय्यर ने पीएम मोदी को कहा 'नीच', राहुल गांधी ने कहा माफी मांगें

फाइल फोटो

खास बातें

  1. मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपशब्‍द कहे
  2. अय्यर ने कहा- अंबेडकर जी की सबसे बड़ी ख्‍वाहिश को नेहरू ने ही साकार किया
  3. पीएम न कहा था-आजकल कुछ लोगों को ‘बाबा साहब’ नहीं,‘बाबा भोले’ याद आ रहे है
नई दिल्ली: कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर जोरदार हमला बोलते हुए सारी मर्यादा लांघ दी और कुछ ज्यादा ही बोल गए. अय्यर ने पीएम मोदी को 'नीच' आदमी तक कह दिया. हालांकि विवाद बढ़ता देख उन्होंने इस पर सफाई दी और कहा कि मुझे अच्छे से हिंदी नहीं आती. अगर इसका मतलब हिंदी में ऐसा होता है तो मैं माफी मांगता हूं. 

दरअसल नेहरू गांधी परिवार पर परोक्ष निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने गुरुवार को कहा कि बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के जाने के बरसों बाद तक राष्ट्र निर्माण में उनके योगदान को मिटाने के प्रयास किए जाते रहे, लेकिन जिस ‘परिवार’ के लिए ये सब किया गया, उस परिवार से कहीं ज्यादा लोग आज बाबा साहेब से प्रभावित हैं. इस पर पलटवार करते हुए कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर सारी मर्यादा लांघ गए पीएम मोदी कोअपशब्‍द कहे थे.

मणिशंकर अय्यर ने कहा, 'अंबेडकर जी की सबसे बड़ी ख्‍वाहिश को साकार किया जवाहर लाल नेहरू ने. इस परिवार के बारे में ऐसी गंदी बात कहीं, जबकि अंबेडकर जी की याद में एक इमातर का उद्घाटन हो रहा है यहां. मुझे लगता है ये आदमी बहुत 'नीच' किस्‍म का है. इसमें कोई सभ्‍यता नहीं है. ऐसे मौके पर ऐसी गंदी राजनीति की क्‍या आवश्‍यकता है.'

इसके बाद इसको लेकर विवाद हो गया और अय्यर को सफाई देनी पड़ी. मणिशंकर अय्यर ने कहा, हां मैंने अंग्रेजी तें 'नीच' कहा था. अगर इसका मतलब हिंदी में ऐसा होता है तो मैं माफी मांगता हूं. मैं अच्‍छे से हिंदी नहीं जानता. मैंने एक शब्‍द का इस्‍तेमाल किया जिसके कई मायने निकलते हैं. जो मायना मोदी जी निकाल रहे हैं उससे मेरा कोई सरोकार नहीं है.'

राहुल गांधी ने भी अपनी पार्टी के वरिष्‍ठ नेता की टिप्‍पणी पर प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि 'बीजेपी और प्रधानमंत्री लगातार कांग्रेस पर हमला करने के लिए गलत भाषा का इस्‍तेमाल करते हैं. कांग्रेस पार्टी में अलग तरह की परंपरा और विरासत रही है. मैं पीएम मोदी को संबोधित करने के लिए मणिशंकर अय्यर द्वारा इस्‍तेमाल की गई भाषा और तरीके का समर्थन नहीं करता. कांग्रेस और मैं दोनों चाहते हैं कि जो भी उन्‍होंने कहा उसके लिए वो माफी मांगें.'

उधर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मणिशंकर अय्यर की टिप्‍पणी पर प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हुए कहा, 'श्रीमान मणिशंकर अय्यर ने कहा कि मोदी तो 'नीच' जाति का है. मोदी तो नीच है. यह गुजरात का अपमान है, भारत की महान परंपरा का अपमान है. अरे ये तो मुगलई मानसिकता है, ऊंच नीच का संस्‍कार हिंदुस्‍तान में नहीं है.'

यह भी पढ़ें : पीएम मोदी ने कहा, ये 'औरंगजेब राज' कांग्रेस को मुबारक...तो कांग्रेस ने ऐसे किया पलटवार

राहुल गांधी पर तंज कसते हुए पीएम मोदी ने कहा था कि आजकल कुछ लोगों को ‘बाबा साहब’ नहीं बल्कि ‘बाबा भोले’ याद आ रहे हैं. इस पर मंणिशंकर अय्यर ने कहा कि अंबेडकर जी की सबसे बड़ी ख्‍वाहिश को जवाहर लाल नेहरू ने ही साकार किया. इस परिवार के बारे में कैसी गंदी बात कही जबकि अंबेडकर जी की याद में एक इमारत का उद्घाटन हो रहा था. यहां मुझे लगता है कि ये आदमी बहुत नीच किस्‍म का आदमी है. इसमें कोई सभ्‍यता नहीं है, ऐसे मौके पर कोई इस गंदी राजनीति की क्‍या आवश्‍यकता है. 

यह भी पढ़ें : 'बीजेपी-आरएसएस के खिलाफ विपक्ष को एक साथ लाने की कोशिश कर रहे हैं राहुल गांधी' 

वहीं गुजरात में पहले चरण का प्रचार थमने से पहले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला है. राजकोट में मनमोहन सिंह ने कहा कि नोटबंदी का जो बेसिक लक्ष्य था, वही फेल हुआ है. भ्रष्टाचार अभी भी हो रहा है. मनमोहन सिंह ने कहा कि हमारे कार्यकाल में जब भ्रष्टाचार पर कोई शिकायत आई, तो हमने उस पर तुरंत एक्शन लिया. लेकिन जब एनडीए के दौरान ऐसा हुआ तो कोई एक्शन नहीं लिया गया. 

यह भी पढ़ें : मणिशंकर अय्यर बोले - मैं भी 'भारत माता की जय' बोलने को तैयार, अगर...

बी आर अंबेडकर अंतरराष्ट्रीय केंद्र के उद्घाटन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि बाबा साहेब का राष्ट्र निर्माण में जो योगदान है, उस वजह से हम सभी उनके ऋणी हैं. हमारी सरकार का ये प्रयास है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक उनके विचार पहुंचें. विशेषकर युवा पीढ़ी उनके बारे में जाने, उनका अध्ययन करें.

VIDEO : मणिशंकर अय्यर के बयान पर पीएम मोदी ने का निशाना


मोदी ने कहा कि हमारे देश में समय-समय पर ऐसी महान आत्माएं जन्म लेती रही हैं, जो न सिर्फ सामाजिक सुधार का चेहरा बनतीं हैं, बल्कि उनके विचार देश के भविष्य को गढ़ते हैं, देश की सोच को गढ़ते हैं. ये भी बाबा साहेब की अद्भुत शक्ति थी कि उनके जाने के बाद, भले बरसों तक उनके विचारों को दबाने की कोशिश हुई, राष्ट्र निर्माण में उनके योगदान को मिटाने का प्रयास किया गया, लेकिन बाबा साहेब के विचारों को ऐसे लोग भारतीय जनमानस के चिंतन से हटा नहीं पाए. उन्होंने कहा कि अगर मैं ये कहूं कि जिस परिवार के लिए ये सब किया गया, उस परिवार से ज्यादा लोग आज बाबा साहेब से प्रभावित हैं, तो मेरी ये बात गलत नहीं होगी. बाबा साहेब का राष्ट्र निर्माण में जो योगदान है, उस वजह से हम सभी बाबासाहेब के ऋणी हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement