NDTV Khabar

1984 दंगों को लेकर राहुल के बचाव में आए चिदंबरम: मनमोहन सिंह ने माफी मांगी थी, अब राहुल को जिम्मेदार ठहराना गलत

1984 दंगों को लेकर राहुल गांधी के बयान के बाद सियासत गर्म है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
1984 दंगों को लेकर राहुल के बचाव में आए चिदंबरम: मनमोहन सिंह ने माफी मांगी थी, अब राहुल को जिम्मेदार ठहराना गलत

पी चिदंबरम (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: 1984 दंगों को लेकर राहुल गांधी के बयान के बाद सियासत गर्म है. 1984 में सिख दंगे को लेकर राहुल गांधी के बयान पर कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने कहा कि कांग्रेस 1984 में सत्ता में थी. 1984 में काफी भयावह चीज हुई थी, जिसके लिए मनमोहन सिंह ने संसद में माफी मांगी थी. उसके लिए आप राहुल गांधी को जिम्मेदार नहीं ठहरा सकते, वह तब 13 या 14 साल के थे. उन्होंने किसी को दोषमुक्त नहीं किया. दरअसल, साल 1984 के सिख विरोधी दंगों में कांग्रेस पार्टी की ‘संलिप्तता’ के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में राहुल ने उस घटना को ‘त्रासदी’ और ‘दर्दनाक अनुभव’ करार दिया, लेकिन इस बात से सहमत नहीं हुए कि कांग्रेस इसमें ‘शामिल’ थी. उन्होंने कहा, ‘मैं समझता हूं कि किसी के खिलाफ की गई कोई भी हिंसा गलत है. भारत में कानूनी प्रक्रियाएं चल रही हैं, लेकिन जहां तक मेरी राय है, उस दौरान हुई किसी भी गलती के लिए सजा मिलनी चाहिए...मैं इसमें 100 फीसदी समर्थन दूंगा.

राहुल गांधी ने पीएम मोदी को भेजा संदेश, इस मामले में भाजपा की खुशी-खुशी मदद करेगी कांग्रेस

इसके अलावा, राफेल सौदे पर कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने कहा कि यह मामला इतना गंभीर है कि इस पर पब्लिक डिबेट और विस्तृत जांच होनी चाहिए. यही वजह है कि कांग्रेस अध्यक्ष और पार्टी ने इसे उठाया है.

गौरतलब है कि जर्मनी में एक कार्यक्रम के दौरान राहुल गांधी ने दर्शकों में मौजूद पंजाबी मूल के लोगों से मुखातिब होते हुए कहा कि गुरुनानक देव के समय से ही चली आ रही अनेकता में एकता का विचार ही कांग्रेस का विचार है. उन्होंने यह भी कहा कि जब जरूरत पड़ी तो आप हमारे साथ खड़े हुए और पंजाब में हमें जिताया. पंजाब में हमारी भी सरकार और आपकी भी सरकार है. आपके लिए मेरे दरवाजे हमेशा खुले हुए हैं.

राहुल ने RSS की तुलना इस्लामिक कट्टरपंथी संगठन मुस्लिम ब्रदरहुड से की, बोले-दोनों में भेद नहीं

गुरु नानक देव के उल्लेख संबंधी राहुल गांधी के बयान के लिये उनकी आलोचना करते हुए भाजपा ने आज कहा कि उनकी पार्टी की पहचान साल 1984 के सिख विरोधी दंगों से जुड़ी है और स्वर्ण मंदिर पर इस जघन्य अपराध के लिये उन्हें माफी मांगनी चाहिए.

भाजपा के राष्ट्रीय सचिव आर पी सिंह ने संवाददाताओं से कहा कि राहुल गांधी सिर्फ वोट बैंक की राजनीति के लिये गुरू नानक देव का उल्लेख कर रहे हैं, उनके लिये सिख सिर्फ वोट बैंक हैं. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने एक बार भी नहीं कहा कि 1984 में हुए सिखों के कत्लेआम में जिन लोगों पर आक्षेप है उनके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए.  राहुल गांधी को सिखों के वोट चाहिए, इसलिये गुरू नानक देव का उल्लेख कर रहे हैं. 

लंदन में राहुल गांधी ने बताया, 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली हार की यह थी बड़ी वजह

टिप्पणियां
भाजपा नेता ने कहा कि राहुल गांधी को सिखों के वोट चाहिए इसलिए वह अपने बयान के माध्यम से उस कहावत को चरितार्थ कर रहे हैं कि 'मित्र वही जो मुसीबत में काम आए लेकिन जब सिखों के साथ न्याय की बात होती है तब मित्रता दिखती नहीं है. 

VIDEO: मिशन 2019 इंट्रो : राहुल के बयान पर बीजेपी का पलटवार


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement