NDTV Khabar

लंदन में राहुल गांधी ने बताया, 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली हार की यह थी बड़ी वजह

इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ स्ट्रेटजिक स्टडीज में यहां एक सवाल के जवाब में गांधी ने कहा, ‘आपको सुनना होगा - नेतृत्व का आशय सीखना है.’ 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लंदन में राहुल गांधी ने बताया, 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली हार की यह थी बड़ी वजह

2014 में कांग्रेस की हार पर राहुल ने कही यह बात

नई दिल्ली:

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को लंदन में कहा कि 2014 के आम चुनावों में मिली हार से पार्टी ने सबक सीखा है और स्वीकार किया कि 10 साल तक सत्ता में रहने की वजह से उसमें ‘एक हद तक दंभ’ आ गया था. इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ स्ट्रेटजिक स्टडीज में यहां एक सवाल के जवाब में गांधी ने कहा, ‘आपको सुनना होगा - नेतृत्व का आशय सीखना है.’ 

2019 में गठबंधन को लेकर राहुल गांधी का बड़ा बयान, कहा- विपक्ष एकजुट हुआ तो बीजेपी का होगा ये हश्र

दरअसल, राहुल गांधी से जब पूछा गया कि उनकी पार्टी ने 2014 में मिली चुनावी शिकस्त से क्या सीखा, तो उन्होंने कहा, ‘10 साल तक सत्ता में रहने के बाद कांग्रेस में कुछ हद तक दंभ आ गया था और हमनें सबक सीखा.’ राहुल ने कहा कि भारत नौकरियां देकर ही अपना कद बढ़ा सकता है और भारत में ‘नौकरियों का संकट’ है. उन्होंने कहा कि चीन जहां प्रत्येक 24 घंटे में 50,000 नौकरियों का सृजन करता है वहीं भारत इस अवधि में महज 450 नौकरियां सृजित कर पाता है. 


राहुल गांधी के बयान पर BJP ने पूछा, क्या आपने भारत सरकार का विरोध करने का ठेका ले रखा है?

उन्होंने कहा, ‘भारत अपना प्रभाव कैसे बढ़ा सकता है जब आप मूल तत्वों की अनदेखी करते हैं. आप अपने कृषि क्षेत्र का समर्थन नहीं करते. ’ राहुल गांधी ने कहा, ‘अगर आप भारत की सफलता को देखेंगे तो इसे तब हासिल किया गया जब यहां विकेंद्रीकरण था. भारत के सर्वश्रेष्ठ और सबसे सफल शासकों ने सत्ता का विकेंद्रीकरण किया.’

इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि उनकी पार्टी भारत के लोगों को आपस में जोड़ती है जबकि भाजपा एवं आरएसएस उन्हें बांटते हैं और नफरत फैलाते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि आरएसएस में महिलाओं की कोई जगह नहीं है और वे उनसे ‘‘दोयम दर्जे के नागरिक’’ जैसा सलूक करते हैं. गुरुवार को बर्लिन में इंडियन ओवरसीज कांग्रेस (आईओसी) द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए राहुल ने दावा किया कि देश में मूड काफी बांटने वाला है और सरकार लोगों पर एक खास विचारधारा थोपने की कोशिश कर रही है, जबकि कांग्रेस इस प्रवृति का मुकाबला कर रही है.

डोकलाम पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का बड़ा दावा- वहां अब भी मौजूद है चीन की सेना

राहुल ने कहा कि पूरा विपक्ष एक साथ आ रहा है और भाजपा एवं आरएसएस को देश की संस्थाओं को नष्ट नहीं करने दिया जाएगा, चाहे वह चुनाव आयोग हो, उच्चतम न्यायालय हो या कोई अन्य संस्था हो. उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस सभी की पार्टी है, सभी के लिए काम करती है और हमारा काम विविधता में एकता के विचार को फैलाना है.’ 

टिप्पणियां

VIDEO: मिशन 2019 इंट्रो : राहुल के बयान पर बीजेपी का पलटवार

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement