NDTV Khabar

कांग्रेस विधायक का नितिन पटेल को आमंत्रण, बीजेपी छोड़ो और सरकार बनाओ

कांग्रेस विधायक विरजी थुम्मर ने उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल से गुजरात में कांग्रेस के सहयोग से सरकार बनाने के लिए कहा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कांग्रेस विधायक का नितिन पटेल को आमंत्रण, बीजेपी छोड़ो और सरकार बनाओ

नितिन पटेल से कांग्रेस विधायक विरजी थुम्मर ने बीजेपी छोड़कर कांंग्रेस के साथ सरकार बनाने के लिए कहा है.

खास बातें

  1. 10-15 समर्थक विधायकों के साथ राज्य में नई सरकार बनाने के लिए कहा
  2. नितिन पटेल को कांग्रेस से सहयोग से मुख्यमंत्री बनाने के लिए कहा
  3. कांग्रेस ने विरजी थुम्मर के बयान से पल्ला झाड़ा, कहा- यह व्यक्तिगत राय
अहमदाबाद:

गुजरात में विभागों के बंटवारे को लेकर कथित रूप से नाराज उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल को पहले पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया और अब कांग्रेस के एक विधायक ने उन्हें आमंत्रण दे डाला है.  कांग्रेस विधायक विरजी थुम्मर ने नितिन पटेल से भाजपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल होने और अपने समर्थक 10-15 विधायकों के सहयोग से राज्य में नई सरकार बनाने के लिए कहा है.

सौराष्ट्र के अमरेली जिले के लाठी विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने गए विरजी थुम्मर ने कहा कि यदि वह निर्धारित संख्या में भाजपा के विधायकों के साथ आते हैं तो पटेल को कांग्रेस से सहयोग से मुख्यमंत्री बनाया जाएगा.

यह भी पढ़ें : नितिन पटेल 10 विधायकों के साथ बीजेपी छोड़ने को तैयार हों, तो मैं कांग्रेस से बात करने के लिए तैयार हूं : हार्दिक पटेल


कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘उन्होंने नितिनभाई पटेल से सारे अच्छे विभाग ले लिए हैं. उनके प्रभार दूसरों को सौंप दिए गए हैं. मैं नितिनभाई से उन्हें समर्थन देने वाले 10-15 विधायकों के साथ आने का अनुरोध करता हूं और हम (कांग्रेस) उन्हें बाहर से समर्थन देंगे.’’ थुम्मर ने कहा , ‘‘गुजरात के विकास और किसानों के लाभ के लिए हमें एक साथ काम करना चाहिए. मैं उन्हें एक मित्र के रूप में बताना चाहता हूं कि भाजपा उनका गलत इस्तेमाल कर रही है.’’

हालांकि कांग्रेस ने कहा कि थुम्मर का बयान व्यक्तिगत था. उसने गुजरात की नई सरकार के भीतर चल रहे राजनीतिक ड्रामे को भाजपा का ‘‘अंदरूनी मसला’’ बताया. कांग्रेस की राज्य इकाई के प्रवक्ता मनीष दोषी ने कहा, ‘‘यह भाजपा की नीति है कि जब उसे लगता है वे कोई काम के नहीं हैं तो वे अपने वरिष्ठ नेताओं को अपमानित करते हैं और उन्हें दरकिनार कर देते हैं. यह केशुभाई पटेल, आनंदीबेन पटेल, गोरधन जदाफिया जैसे पाटीदार नेताओं के मामले में खास तौर पर दिखाई दिया है.’’

टिप्पणियां

VIDEO : अपनी सरकार से नाराज उप मुख्यमंत्री

उन्होंने कहा, ‘‘ अब नितिन पटेल की बारी है. चूंकि हम विभाग के बंटवारे को भाजपा के अंदरूनी मामले के रूप में देखते हैं इसलिए हम इसमें आगे नहीं बढ़ना चाहेंगे. जहां तक थुम्मर के बयान की बात है तो यह उनका व्यक्तिगत विचार है. हम स्थिति पर नजर रखे हुए हैं.’’ गौरतलब है कि नितिन ने विभागों के बंटवारे पर हाल ही में नाखुशी जताई थी.
(इनपुट भाषा से)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement