देश में Coronavirus संक्रमित मरीजों की संख्या 1,000 पार, अब तक 27 लोगों की हो चुकी है मौत, 10 बातें

देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमण के मामले बढ़कर 1024 हो गए हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक इस बीमारी से अब तक 27 लोगों की मौत हो चुकी है.

देश में Coronavirus संक्रमित मरीजों की संख्या 1,000 पार, अब तक 27 लोगों की हो चुकी है मौत, 10 बातें

Coronavirus Lockdown Updates: हजार के पार पहुंचा देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या.

नई दिल्ली: देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमण के मामले बढ़कर 1024 हो गए हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक इस बीमारी से अब तक 27 लोगों की मौत हो चुकी है. राहत वाली बात ये है कि 96 मरीज इस बीमारी से ठीक भी हो चुके हैं. रविवार शाम तक 106 नए मामले सामने आए हैं. वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने रविवार को कोरोनावायरस लॉकडाउन (Coronavirus Lockdown) की वजह से देश की जनता को रही परेशानियों के लिए क्षमा मांगते हुए कहा कि यह फैसला जरूरी था. उन्होंने कहा, 'ये लॉकडाउन आपके खुद के बचने के लिए है. आपको खुद को और अपने परिवार को बचाना है. आपको लक्ष्मण रेखा का पालन करना ही है. कोई कानून, कोई नियम नहीं तोड़ना चाहता लेकिन कुछ लोग अभी भी ऐसा कर रहे हैं, वो परिस्थितियों की गंभीरता को नहीं समझ रहे हैं." बता दें कि पूरी दुनिया में कोरोनावायरस से अबतक 30 हजार से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं.

Coronavirus से 96 मरीज हो चुके हैं ठीक

  1. देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है. रविवार को यह आंकड़ा 1000 पार कर गया. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक देश में अब तक 1024 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं और 27 लोगों की जा चुकी है. हालांकि राहत वाली बात ये है कि 96 मरीज इससे ठीक भी हो चुके हैं. रविवार शाम तक 106 नए मामले सामने आए हैं. 

  2. पीएम मोदी ने रविवार को 'मन की बात' कार्यक्रम में कहा, 'सबसे पहले मैं देशवासियों से क्षमा मांगता हूं. मुझे विश्वास है कि आप मुझे जरूर क्षमा करेंगे. कुछ ऐसे फैसले लेने पड़े हैं, जिसकी वजह से आपको परेशानी हुई है. गरीब भाई-बहनों से क्षमा मांगता हूं. आपकी परेशानी समझता हूं लेकिन 130 करोड़ देशवासियों को बचाने के लिए इसके सिवा और कोई रास्ता नहीं था, इसलिए ये कठोर कदम उठाना आवश्यक था. दुनिया की हालत देखने के बाद लगा था कि यही एक रास्ता बचा है. 

  3. कोरोनावायरस लॉकडाउन के बावजूद भी लोग अपने-अपने घर की ओर लौट रहे हैं. केंद्र सरकार ने निर्देश दिया है कि जो लोग भी लॉकडाउन का उल्लंघन करते हुए एक जगह से दूसरी जगह गए हैं, उन्हें कम से कम 14 दिन के लिए आइसोलेट किया जाएगा. 

  4. केंद्र सरकार ने निर्देश में देशभर के सभी डीएम और एसपी से कहा गया कि जिले और राज्य की सीमाओं को सील रखा जाए ताकि लोगों की आवाजाही रुके. केवल सामान जाने की अनुमति होगी. मज़दूर जहां काम कर रहे हैं, उनके वहीं रहने और खाने का इंतज़ाम किया जाए. उन्हें मज़दूरी दी जाए. घर का किराया न लिया जाए. जो मज़दूरों या छात्रों से घर खाली करने को कह रहे हैं उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए. ज़िम्मेदारी डीएम और एसपी की होगी. 

  5. सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पिछले तीन दिनों में प्रदेश में डेढ़ लाख अतिरिक्त लोग अन्य राज्यों से आए हैं. इन सभी लोगों के नाम, पता, फोन नंबर आदि सहित सूची तैयार करके सम्बन्धित जिला प्रशासन को उपलब्ध कराई जाए. इन सभी लोगों को निगरानी में रखा जाए और इन्हें अनिवार्य रूप से पृथक रखा जाए.

  6. दिल्ली के आनंद विहार व आसपास के इलाकों में रातभर उत्तर प्रदेश और बिहार की तरफ जाने वाले लोगों की भीड़ जमी रही. यूपी ट्रांसपोर्ट और डीटीसी बसों के जरिए लोगों को अलग-अलग जगह पहुंचाया गया. सुबह होते-होते लॉकडाउन के बावजूद लोगों की भीड़ फिर यहां इकट्ठा हो गई. दिल्ली ने 570 बसें चलाई थी. उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है, 'ध्यान रहे दिल्ली से कोई अपने घर या गांव नहीं पहुंचेगा बल्कि उसको 14 दिन सरकारी कैंप में रहना होगा.' 

  7. वहीं, कोरोनावायरस से आज गुजरात और महाराष्ट्र में अब तक एक-एक मरीज की मौत हुई है. कोरोनावायरस से संक्रमित एक महिला की रविवार को मुंबई में मौत हो गई. महिला की उम्र 40 वर्ष बताई जा रही है. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, सांस लेने में तकलीफ होने के बाद महिला को शनिवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. महिला को हाइपरटेंशन की भी समस्या थी. 

  8. कोरोनावायरस के चलते यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कुछ मानवीय फैसले लिए हैं. उनके अनुसार, जो उधम, संस्थान बंदी के दौरान अपने हर कर्मचारी को वेतन देना ही होगा. अधिकारी वेतन दिलाएं. हर गरीब, दिहाड़ी मज़दूर को सरकार एक हज़ार रूपए देगी, वो भले ही प्रदेश के किसी भी कोने में हो, इनको ढूंढिए और पैसा पहुंचाइए. पूरे प्रदेश में अल्प वेतन भोगी, श्रमिकों या गरीब लोगों से मकान मालिक किराया ना लें. ये मेरी अपील है. किसी की भी बिजली, पानी बकाए के चलते नहीं काटी जाएगी, आपूर्ति बराबर बनी रहेगी. 

  9. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजीरवाल ने डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस में अपील की कि जो लोग जहां हैं वहीं रहें और बाहर नहीं निकले. दिल्ली सरकार उनके रहने और खाने का पूरा इंतजाम कर रही है. उन्होंने प्रवासी मजदूरों से अपील कर कहा कि आप अपने घर में रहें सरकार आपके कमरे का किराया दे देगी.  

  10. कोरोनावायरस (Coronavirus) से लड़ाई के लिए पूरा देश एकजुट हो रहा है. प्रधानमंत्री रिलीफ फंड में लोग दिल खोलकर दान कर रहे हैं. इस बीच अडानी ग्रुप से मालिक गौतम अडानी (Gautam Adani) ने भी कोरोना से लड़ाई के लिए प्रधानमंत्री रिलीफ फंड (PM Relief Fund) में 100 करोड़ रुपये दान देने का ऐलान किया है. गौतम अडानी ने ट्वीट कर इसकी घोषणा की. इससे पहले टाटा समूह की तरफ से 1500 करोड़ रुपये का दान दिया गया है. 



 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com