कोरोना वायरस : सरकार की नई गाइडलाइन- जानिए, कौन-कौन खा सकता है मलेरिया वाली दवा Hydroxychloroquine

Hydroxychloroquine News : सरकार ने शुक्रवार को एक संशोधित परामर्श जारी कर गैर कोविड-19 अस्पतालों में काम कर रहे बिना लक्षण वाले स्वास्थ्यसेवा कर्मियों, निरुद्ध क्षेत्रों (कंटेनमेंट जोन) में निगरानी ड्यूटी पर तैनात कर्मियों और कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने संबंधी गतिविधियों में शामिल अर्द्धसैन्य बलों/पुलिसकर्मियों को रोग निरोधक दवा के तौर पर हाइडॉक्सीक्लोरोक्वीन (एचसीक्यू) का इस्तेमाल करने की सिफारिश की है.

कोरोना वायरस :  सरकार की नई गाइडलाइन- जानिए, कौन-कौन खा सकता है मलेरिया वाली दवा Hydroxychloroquine

Hydroxychloroquine पर सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की हैै.

नई दिल्ली :

कोविड 19 के लिए गठित नेशनल टास्क फोर्स द्वारा एचसीक्यू (Hydroxychloroquine) के सुरक्षित इस्तेमाल को समीक्षा के बाद सरकार ने ये फैसला किया है कि  कोरोना प्रभावित और नॉन प्रभावित इलाकों में काम करने वाले स्वास्थ्यकर्मी इस दवा का इस्तेमाल कर सकते हैं. सरकारी की ओर से जारी नई गाइलाइन में कहा गया है कि कंटेनमेंट एरिया में तैनात कर्मचारी अर्धसैनिक/पुलिसकर्मी कोरोना सम्बंधित गतिविधियों में शामिल कर्मचारी और प्रयोगशालाओं में काम करने वाले कर्मचारियों डॉक्टर की सलाह पर एचसीक्यू ले सकते हैं.

हालांकि, आईसीएमआर द्वारा जारी संशोधित परामर्श में आगाह किया गया है कि दवा लेने वाले व्यक्ति को यह नहीं सोचना चाहिए कि वह एकदम सुरक्षित हो गया है.  संशोधित परामर्श के अनुसार एनआईवी पुणे में एचसीक्यू की जांच में यह पाया गया कि इससे संक्रमण की दर कम होती है.

Newsbeep

इसमें कहा गया है कि यह दवा उन लोगों को नहीं देनी चाहिए, जो नजर कमजोर करने वाली रेटिना संबंधी बीमारी से ग्रस्त है, एचसीक्यू को लेकर अति संवेदनशीलता है तथा जिन्हें दिल की धड़कनों के घटने-बढ़ने की बीमारी है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


परामर्श में कहा गया है कि इस दवा को 15 साल से कम आयु के बच्चों तथा गर्भवती एवं दूध पिलाने वाली महिलाओं को न देने की सिफारिश की जाती है. इसमें कहा गया है कि यह दवा औपचारिक सहमति के साथ किसी डॉक्टर की निगरानी में दी जाए. (इनपुट भाषा से भी)
 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)