Coronavirus: देश के 80 छोटे-बड़े शहरों को कर दिया गया लॉकडाउन, क्या आप जानते हैं इसके मायने?

आज देश में करीब 81 नए मामले आये हैं. कोरोना वायरस संकट के चलते केंद्र और राज्य सरकारों ने कई बड़े फ़ैसले लिए हैं.

Coronavirus: देश के 80 छोटे-बड़े शहरों को कर दिया गया लॉकडाउन, क्या आप जानते हैं इसके मायने?

सरकारों की लोगों से घरों में रहने की अपील

खास बातें

  • कोरोना वायरस के चलते देश के 80 शहरों को किया गया लॉकडाउन
  • दिल्ली समेत कई राज्य की सरकारों ने लॉकडाउन की घोषणा की
  • कोरोना से अब तक भारत में 7 लोगों की मौत
नई दिल्ली:

कोरोना का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है. कोरोना वायरस की चपेट में आकर देश में अब तक 7 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि COVID-19 संक्रमितों की संख्या 396 हो गई है. रविवार को गुजरात, बिहार और महाराष्ट्र में 1-1 पीड़ितों की मौत हो गई. आज देश में 81 नए मामले आये हैं. कोरोना वायरस संकट के चलते केंद्र और राज्य सरकारों ने कई बड़े फ़ैसले लिए हैं. सभी राज्यों के मुख्य सचिवों के साथ बैठक के बाद केंद्र सरकार ने देश के उन सभी 75 ज़िलों को लॉकडाउन करने का फ़ैसला किया है, जहां कोरोना वायरस के केस सामने आए हैं. कुल मिलाकर देश में करीब 80 शहर लॉक डाउन अवस्था में हैं. ज्यादातर जगहों पर यह लॉकडाउन 31 मार्च तक जारी रहेगा तो वहीं कुछ जिलों में अगले 2-3 दिनों के लॉकडाउन के बाद समीक्षा की जाएगी और फिर आगे की रणनीति पर फैसला लिया जाएगा. ऐसे में लोगों के मन में सवाल है कि आखिर लॉक डाउन की स्थिति में क्या पाबंदियां रहेंगी और किन कामों की छूट रहेगी.  

Coronavirus का कहर: कई राज्यों में Lockdown, ट्रेन सेवाएं भी बंद, अब तक 7 की मौत - 10 बातें

आपको बता दें कि लॉकडाउन के दौरान प्राइवेट संस्थानों, दफ्तरों  और पब्लिक ट्रांस्पोर्ट को पूरी तरह से बंद रखा जा रहा है. इस दौरान आवश्यक सामानों की आपूर्ति को जारी रहेगी. जिसमें दवा की दुकाने, डेयरी संबंधित प्रतिष्ठान, अस्पताल, किराने की दुकान, पेट्रोल पंप व सीएनजी पंप, बैंकिंग और एटीएम, प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया जैसी सेवाओं और इन सेवाओं के लिए इस्तेमाल किए जा रहे वाहनों को आने जाने की अनुमति होती है. दिल्ली में डीटीसी की बसें 25 प्रतिशत चलेंगी और सारे बाज़ार दुकानें बंद रहेंगे. दिल्ली से सटे सभी बॉर्डर सील कर दिए गए हैं और सिर्फ़ ज़रूरी सामान दूध सब्जी खाने-पीने के सामान ही आएंगे.

31 मार्च तक देश में सभी यात्री रेलगाड़ियों को भी बंद रखने का फैसला लिया गया है. इस सिलसिले में रेलवे बोर्ड ने नोटिफिकेशन जारी कर दिया है. सिर्फ मालगाड़ियां इस दौरान चलेंगी. साथ ही मुंबई की लोकल सेवा के साथ-साथ दिल्ली, मुबंई, कोलकाता समेत सभी मेट्रो सेवाएं को भी 31 तक बंद रखने का फैसला लिया गया है. गाजियाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, लखनऊ सहित उत्तर प्रदेश के 15 जिलों को लॉकडाउन किया गया है. यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर यह जानकारी दी. यूपी के सीएम ने कहा कि, 'लॉकडाउन के दायरे में आने वाले जिलों में किसी भी तरह की कोई गतिविधि नहीं होगी. अगले 23 से 25 मार्च तक यह व्यवस्था लागू रहेगी. हम इसके बारे में कल फिर समीक्षा करेंगे.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Coronavirus: 31 मार्च तक पूरा बिहार लॉकडाउन रहेगा, नीतीश सरकार ने की जनता से समर्थन की अपील

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में रविवार शाम पांच बजे पूरे देश ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए दिन रात कड़ी मेहनत कर रहे चिकित्सा पेशवरों और आवश्यक सेवाओं में लगे कर्मचारियों की ताली, थाली और घंटी बजाकर प्रशंसा की और उनके प्रति आभार व्यक्त किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से अपील की थी कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लोग रविवार सुबह सात बजे से रात नौ बजे तक जनता कर्फ्यू का पालन करें और इस संकट के दौर में भी काम कर रहे डॉक्टरों, पैरा मेडिकल कर्मी, पुलिस और अन्य जरूरी सेवाओं से जुड़़े कर्मियों की प्रशंसा के लिए शाम पांच बजे अपने घरों पर ताली, थाली और घंटी बजाकर उनका उत्साह बढ़ाएं. प्रधानमंत्री ने लोगों की इस भावना के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया. दुनियाभर में कोरोना वायरस (Covid-19) की वजह से अब तक 11 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. सिर्फ चीन और इटली में ही 6000 से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं.