BMC ने आंकड़ों के आधार पर किया दावा, 'मुंबई में काबू में आ रहा कोरोना लेकिन....'

BMC ने 1 अक्टूबर से 1 नवंबर के बीच मुंबई में कोरोना की स्थिति का आंकलन किया है और निष्‍कर्ष निकाला है कि महानगर में कोरोना की ग्रोथ रेट, डबलिंग रेट, डेथ रेट सबमें सुधार हुआ है.

BMC ने आंकड़ों के आधार पर किया दावा, 'मुंबई में काबू में आ रहा कोरोना लेकिन....'

BMC ने आंकड़ों के आधार पर मुंबई में कोरोना के प्रकोप में कमी आने का दावा किया है

खास बातें

  • चेताया, दीवाली के बाद सर्दी के मौसम में बढ़ सकते है केस
  • 1 अक्टूबर से 1 नवंबर के आंकड़ों में कोरोना की स्थिति में दिखा सुधार
  • एक्टिव मामलों, ग्रोथ रेट, डबलिंग रेट और मृत्‍यु दर में आई गिरावट
मुंंबई:

Covid-19 Pandemic: देश के महानगरों की बात करें तो मुंबई कोरोना वायरस संक्रमण से सबसे ज्‍यादा प्रभावित हुआ था. मुंबई में भी अब कोरोना क़ाबू में आ रहा है, बृहनमुंबई म्‍युनि‍सिपल कार्पोरेशन यानी BMC ने यह दावा किया है. BMC ने 1 अक्टूबर से 1 नवंबर के बीच मुंबई में कोरोना की स्थिति का आंकलन किया है और निष्‍कर्ष निकाला है कि महानगर में कोरोना की ग्रोथ रेट, डबलिंग रेट, डेथ रेट सबमें सुधार हुआ है. 24 घंटों में 706 नए कोविड मरीज सामने आए हैं जो दो महीने में कोरोना के मामलों की सबसे कम संख्‍या है.

कोरोना वैक्‍सीन अभी आई नहीं लेकिन हेल्‍थकर्मियों की सूची तैयार करने में लग रहे भेदभाव के आरोप

आंकड़े दिखा रहे स्थिति में सुधार
BMC के मुताबिक़, एक माह में कोरोना के एक्टिव मामले में 29% की गिरावट आई है. 1 अक्टूबर को मुंबई में कोरोना की ग्रोथ रेट 1.06 प्रतिशत थी, जो अब गिरकर 0.41% पर आ गई है. इसी तरह, डबलिंग रेट एक महीने के भीतर करीब तीन गुना बढ़ गई है. यह पहले 66 दिन था, जो अब सुधरकर 171 दिन हो गया है. इसी तरह एक माह पहले मुंबई में कोरोना से मरने वालों की मृत्यु दर 4.4% थी, जो 3.9%हो चुकी है. यही नहीं, महानगर के अस्पतालों में गंभीर मरीज़ों की संख्या में 24% गिरावट आयी है.

रिकवरी के मामले में दुनिया में टॉप पर भारत, एक्टिव केस लगातार चौथे दिन 6 लाख से नीचे

राहत भरे इन आंकड़ों के साथ-साथ, बीएमसी ने चेताया है कि दीवाली के बाद सर्दी के दौरान कोरोना की नई लहर दिख सकती है. ऐसे में पर्याप्‍त सावधानी बरतने की जरूरत है. एडिशनल म्यूनिसिपल कमिश्नर सुरेश ककानी ने कहा, 'त्योहारों को देखते हुए स्वावस्थ्यकर्मी भी सचेत हैं, और लोगों से सावधानी बरतने की अपील कर रहे हैं. गौरतलब है कि मुंबई में मामले घटने का दौर जुलाई-अगस्त महीने में भी देखा गया था, लेकिन सितंबर-अक्टूबर से बढ़े मामलों ने स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट मोड पर रखा है.

Newsbeep

घरों के भीतर तेजी से फैलता है कोरोना वायरस, रिसर्च में आया सामने

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com