कोरोना के केस बढ़ना चुनौती लेकिन रिकवरी रेट भी बेहतर हुआ: केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे

बातचीत में केंद्रीय स्वास्‍थ्‍य राज्य मंत्री ने कहा कि कोरोना भारत ही नहीं पूरी दुनिया के लिए बड़ी चिंता बनकर सामने आया है लेकिन इससे डरने के बजाय ऐहतियात बरतने की जरूरत है. उन्‍होंने कहा कि कोरोना केसों के डबल होने की दर आज 14.1 दिन है जबकि पहले यह पहले 5 दिन थी. 319 ग्रीन, 284 ऑरेंज ज़ोन और 130 रेड ज़ोन डिस्ट्रिक्स हैं.

नई दिल्ली:

Covid-19 Pandemic:  देश में कोरोना वायरस के केसों (Corona virus) की संख्‍या में लगातार इजाफा होता जा रहा है. भारत में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या बढ़कर 1,65,799 हो गई है. पिछले 24 घंटे में कोरोना के सबसे ज्यादा 7466 नए मामले सामने आए हैं. स्‍वाभाविक है कि कोरोना की महामारी पर रोक लगाने की चुनौती बेहद मुश्किल होती जा रही है. कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय की क्या तैयारी है और इससे निपटने की क्या योजना है, इस पर NDTV संवाददाता परिमल कुमार ने केंद्रीय स्वास्‍थ्‍य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे (Ashwini Choubey) से खास बातचीत की. इस दौरान अश्विनी चौबे ने माना कि केसों की संख्‍या बढ़ना चुनौती है लेकिन उन्‍होंने कहा कि इस पर काबू पाने के लिए कारगर उपाय किए जा रहे हैं. उन्‍होंने कहा कि मामले का सकारात्‍मक पहलू यह है कि रिकवरी रेट (मरीजों के ठीक होने की संख्‍या) बेहतर हो रहा है.

बातचीत में केंद्रीय स्वास्‍थ्‍य राज्य मंत्री ने कहा कि कोरोना भारत ही नहीं पूरी दुनिया के लिए बड़ी चिंता बनकर सामने आया है लेकिन इससे डरने के बजाय ऐहतियात बरतने की जरूरत है. उन्‍होंने कहा कि कोरोना केसों के डबल होने की दर आज 14.1 दिन है जबकि पहले यह पहले 5 दिन थी. 319 ग्रीन, 284 ऑरेंज ज़ोन और 130 रेड ज़ोन डिस्ट्रिक्स हैं. कोरोना के खिलाफ जंग में राज्‍यों के साथ तालमेल अच्‍छा है और राज्‍यों को भी अधिकार भी दिया गया है. कोरोना के खिलाफ जंग के लिए तैयारी की बात करते हुए उन्‍होंने बताया-हमने पूरी तैयारी कर रखी है. 3.5 लाख बेड्स हैं, हालांकि भगवान न करे कि ऐसी नौबत आए. चौबे ने कहा कि कोरोना के खिलाफ कारगर दवा और वैक्‍सीन को लेकर शोध जारी है और भारत जल्‍द ही दवा-वैक्‍सीन लाने में सफल होगा.

VIDEO: लॉकडाउन में शराब की दुकानों को बंद करने से सुप्रीम कोर्ट का इंकार

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com