यूपी के बागपत से अस्‍पताल की खिड़की का कांच तोड़कर भागा कोरोना वायरस का मरीज..

यह शख्‍स, 'क्‍वेंरेटाइन' के दौरान सोमवार रात को खिड़की का शीशा तोड़कर भाग निकला. जिस वार्ड में इसे भर्ती कराया गया था, वहां की खिड़की का उसने शीशा तोड़ा और अपने कपड़ों का रस्‍सी के तौर पर इस्‍तेमाल करके भाग निकला.

यूपी के बागपत से अस्‍पताल की खिड़की का कांच तोड़कर भागा कोरोना वायरस का मरीज..

प्रतीकात्‍मक फोटो

खास बातें

  • तब्‍लीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल हुआ था
  • बाद में इसे पकड़कर अस्‍पताल मेंं भर्ती कराया गया था
  • अपने कपड़ों की रस्‍सी बनाकर खिड़की से भागा

Coronavirus Outbreak: ऐसे समय जब देश कोरोना वायरस (Coronavirus) की महामारी का सामना कर रहा है, इससे प्रभावित लोग ऐसी गैरजिम्‍मेदाराना हरकतें कर रहे हैं जिससे वायरस का संक्रमण और बढ़ सकता है. ऐसा एक मामला उत्‍तरप्रदेश के बागपत में सामने आया है. यहां कोविड-19 से पीड़ि‍त एक 60 साल का मरीज (60 year old covid 19 patient) सरकारी हेल्‍थसेंटर से भाग गया. इस व्‍यक्त्‍िा को 3 अप्रैल को सरकार की ओर से संचालित कम्‍युनिटी हेल्‍थ सेंटर (Community healthcare centre) में भर्ती कराया गया था. यह नेपाल के 17  लोगों के उस समूह का हिस्‍सा था जो दिल्‍ली के निजामुद्दीन मरकज में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल हुआ था. बाद में इस शख्‍स को यूपी के बागपत से पकड़ा गया था.

यह शख्‍स, 'क्‍वेंरेटाइन' के दौरान सोमवार रात को खिड़की का शीशा तोड़कर भाग निकला. जिस वार्ड में इसे भर्ती कराया गया था, वहां की खिड़की का उसने शीशा तोड़ा और अपने कपड़ों का रस्‍सी के तौर पर इस्‍तेमाल करके भाग निकला. आसपास के गांवों में अस्‍पताल से भागे इस शख्‍स की तलाश की जा रही है. ऐसे समय जब देश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्‍या में लगातार इजाफा हो रहा है, ऐसी हरकत को पूरी तरह से गैरजिम्‍मेदाराना ही कहा जा सकता है. 

भारत में कोरोना वायरस का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है. मंगलवार सुबह के आंकड़ों के मुताबिक देश में कोरोना के मरीजों की संख्या 4421 हो गई ह, जबकि अभी तक 114 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं, 326 लोगों का उपचार हो चुका है. पिछले 24 घंटे की बात करें तो पांच मौत और 354 नए मरीज सामने आए हैं.

वीडियो: कोरोना वायरस को लेकर केंद्र सरकार की आक्रामक रणनीति

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com