तमिलनाडु में कमजोर पड़ा 'निवार' तूफान, लेकिन ले ली तीन की जान, कई इलाकों में भारी जल-जमाव

इन दोनों तटीय राज्यों से करीब दो लाख लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है. दोनों राज्य सरकारें तूफान से हुए नुकसान का आंकलन कर रही है. फिलहाल दोनों सरकारें जलजमाव से निजात पाने की कोशिशों में जुटी है.

चेन्नई:

चक्रवाती तूफान 'निवार' की वजह से पुडुच्चेरी से करीब 30 किलोमीटर दूर मरक्कनम शहर में भारी भूस्खलन हुआ है. इस कारण तमिलनाडु में तीन लोगों की मौत हो गई है. हालांकि, अब चक्रवाती तूफान कमजोर पड़ गया है. निवार अब कमजोर होकर अति गंभीर श्रेणी से गंभीर श्रेणी में आ गया है. भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार 26 नवंबर को तड़के 2:30 बजे तट से टकराने के साथ इसकी 120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार घटकर 100-110 किलोमीटर प्रति घंटे हो गई.

हालांकि, तमिलनाडु और पुडुच्चेरी के कई इलाकों में भारी बारिश से जलजमाव की स्थिति उत्पन्न हो गई है. इन दोनों तटीय राज्यों से करीब दो लाख लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है. दोनों राज्य सरकारें तूफान से हुए नुकसान का आंकलन कर रही है. फिलहाल दोनों सरकारें जलजमाव से निजात पाने की कोशिशों में जुटी है.

तट से टकराया चक्रवात निवार, चेन्नई और पुडुचेरी में भारी बारिश - 10 बड़ी बातें

तूफान की वजह से पुडुच्चेरी में पिछले 20 घंटों में 20 सेंटीमीटर की अभूतपूर्व बारिश हुई है. मुख्यमंत्री वी नारायणसामी ने कहा कि अधिकारी राज्य में हुए नुकसान की समीक्षा कर रहे हैं. उन्होंने आज कहा, "पुडुच्चेरी में जलभराव हो गया है और बहुत सारे पेड़ गिर गए हैं." तेज हवाओं के साथ हुए भूस्खलन के दौरान बिजली की आपूर्ति बाधित हुई है. इसके बाद केंद्र शासित प्रदेश और तमिलनाडु के कुड्डालोर शहर के कई हिस्सों में बिजली संकट चल रहा है. इसे सामान्य होने में अभी 12 घंटे लग सकते हैं.

Newsbeep

Cyclone Nivar Live Updates: तट से टकराया चक्रवात निवार, चेन्नई और पुडुचेरी में भारी बारिश

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवात की वजह से दोनों तटीय राज्यों में गुरुवार तक छुट्टी कर दी गई है. इसके अलावा चेन्नई एयरपोर्ट पर अभी भी परिचालन सामान्य नहीं हो सका है. वहां अभी भी बहुत तेज हवाएं चल रही हैं. दोनों राज्यों के कई तटीय जिलों में अभी भी जोरदार बारिश हो रहा है. तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई पसानीसामी ने अभी भी इन इलाकों के लोगों से घरों के अंदर रहने की अपील की है.