बिहार: बाढ़ के कारण दरभंगा जिले में हालात बिगड़े, प्रमुख सड़कों पर डेढ़ से ढाई फीट तक पानी..

बिहार के दरभंगा में अब बाढ़ का पानी लगातार अपना दायरा बढ़ाता जा रहा है. बाढ़ के इस पानी ने जहां लोगों की परेशानियां बढ़ा दी हैं, वही कुछ युवा इस पानी में सड़कों पर मस्ती करते भी दिखे जो बेहद खतरनाक हो सकता है.

बिहार: बाढ़ के कारण दरभंगा जिले में हालात बिगड़े, प्रमुख सड़कों पर डेढ़ से ढाई फीट तक पानी..

बाढ़ के कारण दरभंगा जिले में बुरे हाल हैं

पटना :

Flood in Bihar: बिहार में बाढ़ के कारण हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं. दरभंगा-समस्तीपुर राजकीय उच्च पथ संख्या 50 एवं दरभंगा-जयनगर नेशनल हाईवे 527 बी पर कई जगहों पर बाढ़ का पानी सड़कों के ऊपर से बह रहा है.पथ निर्माण प्रमंडल, दरभंगा के कार्यपालक अभियंता पवन कुमार सिंह ने रविवार शाम बताया कि दरभंगा समस्तीपुर स्टेट हाईवे संख्या 50 पर 10वें किलोमीटर में डिलाही और रक्सी पूल एवं रक्शी पूल से विशनपुर तक में 4 जगहों पर बाढ़ का पानी ऊपर आ गया है. उन्होंने बताया कि डिलाही और रक्शी पूल के बीच 200 फीट की दूरी में सड़क पर ढाई फीट पानी बह रहा है वही तीन अन्य जगह पर एक से डेढ़ फीट तक पानी सड़कों पर है. उन्होंने बताया कि एहतियात के तौर पर सड़क पर सुरक्षाकर्मी तैनात कर दिए गए हैं और स्थिति की लगातार समीक्षा की जा रही है. सिंह ने बताया कि डिलाही के समीप सड़क पर दो से ढाई फीट पानी भरा है जो खतरनाक हो सकता है इस पर निगरानी रखी जा रही है.इसके अलावा रखती पुल से बिशनपुर के बीच बीच सड़क पर तीन जगहों पर पानी ओवरटॉप कर गया है इन जगहों पर एक से डेढ़ फीट तक पानी का बहाव सड़कों पर हो रहा है.

यह भी पढ़ें: बाढ़ प्रभावित चंपारण में NDRF की बोट पर महिला ने बच्ची को दिया जन्म                   

दरभंगा-जयनगर राष्ट्रीय उच्च पथ संख्या  527 बी (NH-527B)  पर भी केवटी थाना क्षेत्र के खिरमा गांव के समीप करीब 400 की दूरी में सड़क पर डेढ़ से दो फीट पानी है. यह सड़क दरभंगा से मधुबनी जिला के साथ जयनगर होते हुए भारत को नेपाल से जोड़ती है. सड़क पर बाढ़ का पानी आ जाने से गाडिय़ों की रफ़्तार पर ब्रेक लग गया है.बिहार के दरभंगा में अब बाढ़ का पानी लगातार अपना दायरा बढ़ाता जा रहा है. बाढ़ के इस पानी ने जहां लोगों की परेशानियां बढ़ा दी हैं, वही कुछ युवा इस पानी में सड़कों पर मस्ती करते भी दिखे जो बेहद खतरनाक हो सकता है. ऐहतियात के तौर पर NH की ओर से यहां एक गार्ड नियुक्त कर दिया गया है. वहीं पानी बढ़ने के कारण सुरक्षित यात्रा पर भी नजर रखने के लिए यहाँ पुलिस गस्त भी लगा दी गई है.

दरभंगा के जिलाधिकारी डॉक्टर एसएम त्यागराजन ने बताया कि दरभंगा जिला (Darbhanga District) के 12 प्रखंडों के कुल 135 पंचायत बाढ़ प्रभावित हैं, जिनमें 88 पंचायत पूर्णतः एवं 47 पंचायत आंशिक रूप से प्रभावित हैं, जिनमें 467 गांव के 245305 परिवार प्रभावित हुए हैं. सभी प्रभावित स्थानों पर प्रभावित व्यक्तियों के लिए सामुदायिक रसोई चलाकर भोजन की व्यवस्था कराई गई है. वर्तमान में बाढ़ प्रभावित 293 गांवों में सामुदायिक रसोई का संचालन किया जा रहा है, जिनमें 76206 व्यक्ति सुबह शाम भोजन कर रहे हैं.

आवश्यकतानुसार पॉलीथीन शीट्स का वितरण किया जा रहा है अभी तक 11819 पॉलीथीन शीट वितरण किया जा चुका है. इसके अतिरिक्त संबंधित प्रखण्ड विकास पदाधिकारी एवं अंचलाधिकारी को प्रभावित क्षेत्रों की जरूरत के हिसाब से मांग भेजने का भी निर्देश दिया गया. वैसे बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों जहां सूखा एवं ऊंचा स्थान नहीं मिलने के कारण सामुदायिक रसोई का संचालन संभव नहीं है, वहां ड्राय खाद्य सामग्री के पैकेट का वितरण करवाया जा रहा है. आज 4280 सूखा फ़ूड पैकेट का वितरण करवाया गया है एवं अन्य प्रखंडों से जिला भंडार गृह से आवश्यकता अनुरूप पैकेट्स मांगने एवं वितरित करने का निर्देश दिया गया है. बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में आवागमन एवं राहत कार्यों के लिए 256 निजी नाव एवं 43 सरकारी नाव कुल 299 नाव चलवाई जा रही है. इसके अलावा एनडीआरएफ एवं एसडीआरएफ की तीन टीमें लगायी गयीं हैं जिनमें 90 व्यक्ति 17 मोटर वोट के साथ तैनात किए गए हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बिहार में बाढ़ का कहर, लगातार बिगड़ रहे हालात