NDTV Khabar

अगस्तावेस्टलैंड केस: ED ने 24 घंटे में 'मुर्दा' अहम गवाह को मान लिया ज़िन्दा, कोर्ट में होगा पेश

अगस्तावेस्टलैंड VVIP चॉपर केस में एक अहम गवाह, जिसे प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने सिर्फ 24 घंटे पहले ही मृत घोषित किया था, गुरुवार को कोर्ट के सामने पेश होगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अगस्तावेस्टलैंड केस: ED ने 24 घंटे में 'मुर्दा' अहम गवाह को मान लिया ज़िन्दा, कोर्ट में होगा पेश

प्रवर्तन निदेशालय अगस्ता मामले की जांच कर रही है.

खास बातें

  1. ईडी ने 24 घंटे में ही 'मुर्दा' गवाह को मान लिया जिंदा
  2. गुरुवार को कोर्ट के सामने पेश होगा केके खोसला
  3. ईडी अगस्तावेस्टलैंड घोटाले की कर रही है जांच
नई दिल्ली:

अगस्तावेस्टलैंड VVIP चॉपर केस में एक अहम गवाह, जिसे प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने सिर्फ 24 घंटे पहले ही मृत घोषित किया था, अब कोर्ट के सामने पेश होगा. केस की तफ्तीश कर रही जांच एजेंसी ने मंगलवार को ही कोर्ट को बताया था कि यह गवाह के.के. खोसला संभवतः मर चुका है, और बुधवार को ही खोसला सामने आ गया. केस से जुड़े कुछ अहम दस्तावेज़ इसी गवाह के.के. खोसला के पास थे.

पीएम मोदी ने VVIP हेलीकॉप्‍टर घोटाले की चार्जशीट में दर्ज 'AP' और 'FAM' को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना

एजेंसी के अधिकारियों ने केस की सुनवाई कर रही विशेष अदालत को मंगलवार को बताया था, "जब भी हम उसके घर गए, वह उपलब्ध नहीं हुआ... संभवतः वह मर चुका है..." बुधवार को एजेंसी ने अपना रुख बदला, और कहा कि बचाव पक्ष का दावा है कि वह ज़िन्दा है और जब भी ज़रूरत होगी, वह कोर्ट में पेश होगा.


अहमद पटेल के नाम वाली चार्जशीट मीडिया में लीक की गई : क्रिश्चियन मिशेल ने कोर्ट से कहा

एजेंसी का दावा है कि के.के. खोसला के पास कुछ काग़ज़ात हैं, जिनमें रिश्वत की रकम तथा उन्हें हासिल करने वालों के नामों का ज़िक्र है. एजेंसी ने कहा कि रिश्वत तथा भ्रष्टाचार को साबित करने के लिए खोसला अहम गवाह है. कोर्ट ने के.के. खोसला को गुरुवार को अदालत में पेश होने के लिए कहा है, जब उसके बॉस रतुल पुरी की ओर से बचाव पक्ष के वकील अपनी बहस शुरू कर सकते हैं.

अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर सौदा : ईडी की चार्जशीट में अहमद पटेल और किसी 'श्रीमती गांधी' का नाम

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भान्जे रतुल पुरी अगस्तावेस्टलैंड VVIP चॉपर केस में संदिग्ध हैं. इसी महीने एजेंसी ने कोर्ट को बताया था कि रतुल पुरी ने 3,600 करोड़ रुपये के VVIP चॉपर सौदे में रकम हासिल की थी, और सौदे में रिश्वत का भारी लेनदेन हुआ था. एजेंसी ने यह भी कहा था कि रतुल पुरी ने गवाहों को प्रभावित करने तथा सबूतों से छेड़खानी करने की भी कोशिश की थी.

अगस्ता वेस्टलैंड मामला : कोर्ट में सरकारी गवाह बने राजीव सक्सेना के बयान दर्ज

टिप्पणियां

हिन्दुस्तान पॉवरप्रोजेक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड के अध्यक्ष रतुल पुरी ने कहा था कि उन पर लगाए गए आरोप राजनैतिक बदले की भावना से प्रेरित हैं. रतुल को कोर्ट से इस केस में अग्रिम ज़मानत भी मिल गई थी. इटली की एक अदालत अगस्तावेस्टलैंड तथा उसकी पेरेंट कंपनी फिनमैकानिका के पूर्व प्रमुखों को दोषी करार दे चुकी है. कोर्ट ने पाया था कि भारत को 12 VVIP हेलीकॉप्टरों की बिक्री में अगस्तावेस्टलैंड ने अनियमितताएं बरती थीं.

VIDEO: रतुल पुरी की अग्रिम जमानत का ED ने किया विरोध



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement