PM मोदी द्वारा 'जनता कर्फ्यू' की अपील के बाद रविवार को बंद रहेगी दिल्ली मेट्रो

प्रधानमंत्री के जनता कर्फ्यू के ऐलान के बाद 22 मार्च को बंद रहेगी दिल्ली मेट्रो, जनता को घर में रहने के लिए प्रोत्साहित करने के तहत उठाया गया कदम.

PM मोदी द्वारा 'जनता कर्फ्यू' की अपील के बाद रविवार को बंद रहेगी दिल्ली मेट्रो

प्रतीकात्मक

खास बातें

  • रविवार को दिल्ली मेट्रो का संचालन भी रहेगा बंद
  • पीएम मोदी ने की है जनता कर्फ्यू की अपील
  • कोरोना वायरस के कहर के चलते उठाया गया कदम
नई दिल्ली:

गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के संबोधन में लोगों से अपील की थी कि रविवार 22 मार्च को जनता कर्फ्यू लगाया जाए. प्रधानमंत्री की इस अपील का असर जनता में सकरात्मक रुप से देखने को मिल रहा है. इसे देखते हुए दिल्ली मेट्रो ने भी ऐलान किया है कि रविवार को मेट्रो का संचालन नहीं होगा. कोरोना वायरस के खतरे के मद्देनजर देश के कई शहरों में मॉल्स, स्मारकों समेत ऐसी जगहों को बंद करने का ऐलान किया है जहां भीड़ जुटने की संभावना है. इसी कड़ी दिल्ली मेट्रो का कदम खासा महत्वपूर्ण माना जा रहा है, क्योंकि रोजाना लाखों लोग मेट्रो में सफर करते हैं. इसके अलावा इंडिया गेट को भी आमजनों के लिए बंद कर दिया गया है. 

कोरोना वायरस : लोकसभा में असंगठित क्षेत्र के मजदूरों को लेकर हुई चर्चा

वहीं दूसरी तरफ दिल्ली सरकार की तरफ से भी प्राइवेट कंपनियों को सलाह दी गई है कि वह अपने कर्मचारियों को 31 मार्च तक अपने घर से ही काम करने की इजाजत दे. दिल्ली सरकार (Delhi Govt) की एडवाइजरी में कहा गया है, 'निजी क्षेत्र के सभी दफ्तर जिनमें बहुराष्ट्रीय आईटी कंपनियां, उद्योग और कारपोरेट दफ्तर आदि शामिल हैं, जो राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में हैं, उनको सलाह दी जाती है कि वह अपने अधिकारियों और कर्मचारियों को 31 मार्च 2020 तक घर से ही काम करने की इजाजत दें.' दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी इस एडवाइजरी में आम जनता को भी सलाह दी गई है कि लोग घरों में ही रहें, खासतौर से वरिष्ठ नागरिक, ऐसे लोग जो डायबिटीज, श्वास रोग, ह्रदय रोग आदि से ग्रस्त हैं या गर्भवती महिला है या बच्चे हैं. आपको बता दें कि दिल्ली सरकार अपने अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए भी वर्क फ्रॉम होम पर विचार कर रही है.

Coronavirus: दिल्ली सरकार ने जारी की एडवाइजरी, निजी कंपनियां कर्मचारियों से कराएं 'वर्क फ्रॉम होम'

बता दें कि पीएम मोदी ने कहा कि 22 मार्च रविवार को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक जनता कर्फ्यू का पालन करना चाहिए .इस दौरान न सड़क पर जाए, न मोहल्ला में जाए. प्रधानमंत्री ने कहा कि मुझे आपके आने वाले कुछ सप्ताह चाहिए. आपका आने वाला कुछ समय चाहिए. अभी तक विज्ञान कोरोना महामारी से बचने के लिए कोई उपाय नहीं ढूंढ़ पाया है, न ही कोई वैक्सीन बन पाई है. दुनिया के जिन देशों में कोरोना का प्रभाव जहां कोरोना का संकट सामान्य बात नहीं है, जब बड़े-बड़े और विकसित देश इससे प्रभावित है, तो ऐसे में यह सोचना कि भारत पर इसका असर नहीं पड़ेगा गलता है.

Video: देशभर में 'कोरोना' का कहर, अब तक 195 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com