दिल्ली-नोएडा बॉर्डर फिलहाल रहेगा सील, प्रशासन ने कहा- 42% कोरोना केस का संबंध दिल्ली से

नोएडा प्रशासन ने दिल्ली से लगी सीमाओं को फिलहाल बंद ही रखने का फैसला किया है. प्रशासन का कहना है कि जिले में मिले 42 फीसदी मामलों का संबंध राष्ट्रीय राजधानी से है इसलिए ऐसा करने का फैसला किया गया है.

दिल्ली-नोएडा बॉर्डर फिलहाल रहेगा सील, प्रशासन ने कहा- 42% कोरोना केस का संबंध दिल्ली से

दिल्ली-नोएडा बॉर्डर (Delhi-Noida Border) फिलहाल रहेगा सील.

नई दिल्ली:

नोएडा प्रशासन ने दिल्ली से लगी सीमाओं को फिलहाल बंद ही रखने का फैसला किया है. प्रशासन का कहना है कि जिले में मिले 42 फीसदी मामलों का संबंध राष्ट्रीय राजधानी से है इसलिए ऐसा करने का फैसला लिया गया है. नोएडा प्रशासन का यह फैसला केंद्र के उस गाइडलाइंस के ठीक एक दिन बाद आया है, जिसमें कहा गया था कि एक राज्य से दूसरे राज्य में आवाजाही पर कोई रोक नहीं होगी. इसके लिए किसी भी तरह के पास की कोई जरूरत नहीं पड़ेगी. अगर राज्य को आपत्ति है तो इसके लिए उसे एक आदेश जारी करना होगा और इसका ठीक से प्रचार भी करना होगा.   

'स्वास्थ्य विभाग ने बताया है कि पिछले 20 दिनों में नोएडा में पाए गए कुल कोरोनावायरस मामलों में से 42 प्रतिशत दिल्ली से जुड़े हैं. स्वास्थ्य और पुलिस विभागों के साथ चर्चा के बाद यह निर्णय लिया गया है कि यथास्थिति बनाए रखी जानी चाहिए.'

जिलाधिकारी ने बताया कि दुकानें और बाजार खोलने के संबंध में राज्य सरकार के दिशानिर्देशों के अनुसार जिले में जारी पिछले निर्देश बने रहेंगे. पहले की ही तरह शहरी क्षेत्रों में 50 फीसदी दुकानों को एकांतर के आधार पर खोलने की व्यवस्था लागू रहेगी. दुकानदारों और व्यापार मंडल के अनुरोध के आधार पर श्रम विभाग को व्यापारियों से परामर्श करने के बाद, साप्ताहिक अवकाश को संशोधित करने को कहा गया है.

उन्होंने बताया कि इंसिडेंट कमांडर, पुलिस और स्वास्थ्य विभाग नए दिशानिर्देशों के अनुसार निषिद्ध क्षेत्र को फिर से परिभाषित करेंगे. जिलाधिकारी ने बताया कि आवासीय क्षेत्रों में बहुमंजिला आवासीय भवनों में निषिद्ध क्षेत्र के संबंध में यह नियम लागू होगा कि, यदि मल्टी स्टोरी सोसाइटी में स्थित एक टावर में एक या एक से अधिक संक्रमित मरीज पाए जाते है, तो वह टावर जहां संक्रमित केस पाया गया है, को ही निषिद्ध क्षेत्र के रूप में चिन्हित किया जाएगा. उन्होंने बताया कि यदि किसी सोसाइटी में एक से अधिक टावरों में मामले पाए जाते हैं तो ऐसे सभी टावर निषिद्ध क्षेत्र होंगे. वहां पार्क, जिम, स्विमिंग पूल, बैंक्वेट हॉल आदि जैसी सभी सुविधाएं निषिद्ध क्षेत्र के अंतर्गत ही मानी जाएगी।
 

कुछ दिन पहले भी नोएडा प्रशासन ने कोरोनावायरस के फैलते संक्रमण की वजह से बिना अनुमति या वैध पास के दिल्ली के लोगों का नोएडा में प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया था. बुधवार को पुलिस द्वारा की जा रही जांच की वजह से दिल्ली-नोएडा सीमा पर भारी जाम लग गया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

देश में कोरोना (Covid-19) संक्रमितों का कुल आंकड़ा 1.85 लाख के ऊपर पहुंच गया है, जबकि इस वायरस से अब तक 5,164 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं, पिछले 24 घंटों में कोरोना के 8,380 नए मामले सामने आए हैं और 193 लोगों की जान गई है. पिछले 24 घंटो में अब तक सबसे ज़्यादा मामले सामने आए हैं. हालांकि, राहत की बात यह है कि 86,984 मरीज कोरोना को मात देने में कामयाब हुए हैं. इस बीच, शनिवार को देश में लागू लॉकडाउन (Lockdown) को कंटेनमेंट ज़ोन तक सीमित करके अवधि को 30 जून तक बढ़ाने का फैसला किया गया.

VIDEO: दिल्ली-नोएडा बॉर्डर पर लगा लंबा जाम, लोग परेशान