NDTV Khabar

दिल्ली जैसे महंगे शहर में ₹3500 गुजारा भत्ते से नहीं चलेगा कामः कोर्ट

कोर्ट ने एक शख्स की याचिका खारिज करते हुए कहा कि किसी महिला को उसकी उस हैसियत के हिसाब से अंतरिम गुजारा-भत्ता दिया जाता है जो विवाहित महिला के रूप में उसकी होती है.

2 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली जैसे महंगे शहर में ₹3500 गुजारा भत्ते से नहीं चलेगा कामः कोर्ट

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  1. अदालत ने खारिज की घेरलू हिंसा में आरोपित एक शख्स की याचिका
  2. कोर्ट ने कहा, गुजारा भत्ते का मतलब भूखमरी से बचाना नहीं होता
  3. शख्स ने दलील दी थी कि महिला एक शिक्षक है, उसकी अच्छी तनख्वाह है
नई दिल्ली: दिल्ली की एक अदालत ने कहा है कि दिल्ली जैसे महंगे शहर में पत्नी के लिए ₹3500 प्रति माह का गुजारा-भत्ता ज्यादा नहीं है. अदालत ने घरेलू हिंसा के मामले में आरोपित एक शख्स की याचिका खारिज करते हुए कहा कि किसी महिला को उसकी उस हैसियत के हिसाब से अंतरिम गुजारा-भत्ता दिया जाता है जो विवाहित महिला के रूप में उसकी होती है. अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश लोकेश कुमार शर्मा ने कहा, उच्चतर अदालतों के आदेशों के मद्देनजर अंतरिम गुजारा-भत्ता देने के पीछे मकसद पत्नी को भूखमरी और परेशानियों से सिर्फ बचाना नहीं होता है. वह उस तरह की जिंदगी जीने की हकदार है जो अपने पति के साथ रहते समय गुजार रही थी'.

वीडियो देखेंः बगैर शादी साथ रहने का हक



शर्मा ने कहा, 'मेरे विचार से, पक्षों की सामाजिक-आर्थिक हैसियत पर विचार करते हुए निचली अदालत से अंतरिम गुजारा-भत्ता के लिए मिला आदेश, खास तौर पर दिल्ली जैसे महानगर में जीवन यापन के खर्च को देखते हुए ज्यादा नहीं लगता. गौरतलब है कि कि मजिस्ट्रेटी अदालत के आदेश के खिलाफ दायर अपील में उस शख्स ने दलील दी थी कि महिला एक पेशेवर शिक्षक है और उसे अच्छी तनख्वाह मिल रही है.
 
ये भी पढ़ें : 

पति की कमायी पर ही आश्रित नहीं रहा जा सकता : अदालत ने महिला से कहा
दीपक तिजोरी को 'पत्नी' ने घर से बाहर निकाला, बाद में पता चला कि वह उनकी पत्नी ही नहीं
                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                         

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement