NDTV Khabar

भारत ने डोकलाम पर चीन के बयान को बताया गलत, कहा- ऐसा कुछ नहीं हुआ

इससे पहले चीन ने 15 पन्नों का बयान जारी कर कहा था कि भारत के 400 जवान उसके इलाक़े में घुस आए थे और अपने तंबू गाड़ दिए थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारत ने डोकलाम पर चीन के बयान को बताया गलत, कहा- ऐसा कुछ नहीं हुआ

डोकलाम मुद्दा : चीन के बयान को भारत ने किया खारिज

खास बातें

  1. डोकलाम में सेना की कटौती नहीं की
  2. जितने सैनिक पहले थे उतरने ही अभी
  3. चीन के बयान से भारत का इनकार
नई दिल्ली:

चीन के दावे को गलत बताते हुए भारत ने कहा है कि उसने डोकलाम में सेना की कटौती नहीं की है. इससे पहले चीन ने 15 पन्नों का बयान जारी कर कहा था कि भारत के 400 जवान उसके इलाक़े में घुस आए थे और अपने तंबू गाड़ दिए थे, लेकिन अब भारत ने अपने सैनिकों की संख्या कम कर दी है और अभी वहां 40 सैनिक और एक बुलडोज़र उसके इलाक़े में मौजूद है.

भारत ने चीन के दावे के उलट बयान जारी किया
चीन के इस दावे के उलट भारत ने बयान जारी कर कहा कि भारत के जितने सैनिक वहां पहले मौजूद थे उतने अभी भी मौजूद हैं. वहीं चीन ने भारत से कहा है कि उसे बिना शर्त वहां से अपने सैनिक हटा लेने चाहिए. पिछले हफ़्ते राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और चीन के सुरक्षा सलाहकार येची यैंग के बीच बीजिंग में मुलाक़ात भी हुई थी, जिसमें माना जा रहा था कि डोकलाम तनाव को कम करने को लेकर दोनों के बीच बातचीत हुई होगी.

पढ़ें:चीन ने किया दावा, डोकलाम सड़क निर्माण के बारे में भारत को पहले ही अवगत कराया


VIDEO: चीन विवाद पर विदेशमंत्री सुषमा स्वराज
डेढ़ महीने से ज्यादा से चल रहे डोकलाम विवाद में चीन लगातार दबाव बढ़ाने की कोशिश कर रहा है. अब चीन के विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर दावा किया है कि सड़क बनाने के पहले उसने भारत को जानकारी दी थी, इस मामले में बहुत संयम दिखाया और भारत फौरन अपनी सेना वहां से हटाए.

टिप्पणियां

पढ़ें: चीन ने फैक्टशीट जारी की : कहा- चीन और भूटान के सीमा मामले में भारत कैसे दखल दे सकता है?

भारत सीमा की सड़कों पर अपनी स्थिति कर रहा है मजबूत
भारत जिस तरह सीमा पर सड़कों पर अपनी स्थिति मज़बूत कर रहा है उस पर चीन की चिंता का भी इस बयान में ज़िक्र है. असल में क्षेत्रीय दबदबे के चीन के लक्ष्य में सबसे ज्यादा भारत ही आड़े आ रहा है और शायद यही वजह है कि डोकलाम विवाद इतना लंबा खिंच रहा है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement