कोरोनावायरस को लेकर डोनाल्‍ड ट्रंप का ट्वीट, ''चीन की ओर से दुनिया को बेहद खराब तोहफा'

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने कोरोनावायरस (Coronavirus) को लेकर एक बार फिर चीन पर हमला बोला है.

कोरोनावायरस को लेकर डोनाल्‍ड ट्रंप का ट्वीट, ''चीन की ओर से दुनिया को बेहद खराब तोहफा'

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप.

नई दिल्ली:

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने कोरोनावायरस (Coronavirus) को लेकर एक बार फिर चीन पर हमला बोला है. अमेरिकी राष्ट्रपति ने ट्वीट कर कहा कि कोरोनावायरस 'चीन की ओर से दुनिया को बेहद खराब तोहफा' है. इससे पहले ट्रंप ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि कोरोनावायरस से अमेरिका में 1 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. जिन लोगों की कोरोना से मौत हुई है उनके परिवार के प्रति मेरी संवेदनाएं.

बता दें कि ट्रंप ने इससे पहले चीन पर दुनियाभर में कोरोनावायरस संक्रमण फैलाने और बड़े पैमाने पर हत्याओं को अंजाम देने का आरोप लगाया था. अमेरिकी राष्ट्रपति ने अपने हालिया ट्वीट में लिखा था, चीन में कुछ सिरफिरे कोरोना के लिए अन्य लोगों को दोष दे रहे हैं, जबकि चीन की नाकामी ने दुनियाभर में हत्याओं को अंजाम दिया. यह चीन की अक्षमता के अलावा और कुछ नहीं है. 

इससे पहले भी ट्रंप कोरोनावायरस को लेकर चीन पर निशाना साधते रहे हैं. 1 मई को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) से जब पूछा गया था कि क्या उन्होंने कुछ ऐसा देखा है जो उन्हें विश्वास दिलाता हो कि कोरोनावायरस का स्रोत वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी ही था, इसपर वह बोले, 'हां मेरे पास है.' पत्रकारों ने उनसे पूछा कि वह क्या चीज है, इसपर ट्रंप बोले, 'मैं आपको नहीं बता सकता.'

ट्रंप से जब उन रिपोर्ट्स के बारे में पूछा गया कि क्या वह चीन के लिए अमेरिकी ऋण दायित्वों को रद्द कर सकते हैं, जवाब में उन्होंने कहा कि वह इसे अलग और सटीक तरीके से कर सकते हैं. वह ऐसा भी कर सकते हैं लेकिन और पैसों के लिए वह टैरिफ बढ़ाएंगे. अमेरिका इससे पहले कह चुका है कि अगर चीन तय प्रावधानों का पालन नहीं करता है तो वह उसके साथ ट्रेड डील भी खत्म कर सकता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

गौरतलब है कि कोरोनावायरस को लेकर अमेरिका लगातार चीन पर आरोपों का हमला कर रहा है. हाल ही में डोनाल्ड ट्रंप ने कोरोना को अमेरिका में इस साल होने वाले राष्ट्रपति चुनाव से जोड़ते हुए कहा था कि चीन उन्हें नवंबर में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में हराने के लिए कुछ भी कर सकता है. उन्होंने दावा किया था कि जिस तरह चीन कोरोनावायरस की स्थिति से निपटा है, वह इसी बात का सबूत है.

ट्रंप कोरोना को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) पर भी निशाना साध चुके हैं. उन्‍होंने WHO को चीन के हाथों की कठपुतली बताते हुए कहा कि अमेरिका पहले WHO के बारे में जल्द ही कुछ सिफारिशें लेकर आएगा और उसके बाद चीन के बारे में भी ऐसा ही कदम उठाया जाएगा. ट्रंप ने कहा, 'उन्होंने (WHO) हमें गुमराह किया. हम जल्दी एक सिफारिश लेकर आएंगे, लेकिन हम विश्व स्वास्थ्य संगठन से खुश नहीं हैं.'