10 साल पुराने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में अलगाववादी नेता शब्बीर शाह गिरफ्तार

कश्मीर के अलगाववादी नेता शब्बीर शाह को श्रीनगर में प्रवर्तन निदेशालय ने देर रात गिरफ्तार कर लिया.

10 साल पुराने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में अलगाववादी नेता शब्बीर शाह गिरफ्तार

शब्बीर शाह को आज दिल्ली लाया जा सकता है जहां उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा.

खास बातें

  • बुधवार को शब्बीर शाह को दिल्ली लाया जा सकता है
  • टेरर फंडिंग केस में एनआईए भी शब्बीर शाह से पूछताछ कर सकती है
  • शब्बीर शाह के खिलाफ इसी महीने गैर जमानती वारंट जारी किया गया था
नई दिल्ली:

कश्मीर के अलगाववादी नेता शब्बीर शाह को श्रीनगर में प्रवर्तन निदेशालय ने देर रात गिरफ्तार कर लिया. शाह को एक दशक पुराने मनी लॉन्ड्रिंग केस में गिरफ्तार किया गया. शब्बीर शाह को आज यानी बुधवार को दिल्ली लाया जा सकता है जहां उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा. वहीं आतंकी फंडिंग केस में एनआईए भी शब्बीर शाह से पूछताछ कर सकती है. अधिकारियों ने बताया कि शाह को श्रीनगर से गिरफ्तार किया गया. दरअसल, शब्बीर शाह के खिलाफ इसी महीने गैर जमानती वारंट जारी किया गया था.

प्रवर्तन निदेशालय की मांग पर गैर जमानती वारंट मनी लॉन्ड्रिंग केस में जारी किया गया था. ईडी ने शब्बीर को कई समन जारी किए, लेकिन वो पेश नहीं हुआ, तब इस बार गैर जमानती वारंट जारी किया गया था. वारंट पटियाला हाउस कोर्ट, दिल्ली से जारी किया गया था.

ये भी पढ़ें
मुफ्ती के विधानसभा क्षेत्र में शब्बीर शाह की रैली में फहराए गए पाकिस्तानी झंडे

दरअसल, अगस्त 2005 में दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने मोहम्मद असलम वानी नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया था. असलम पर हवाला कारोबार से जुड़े होने का आरोप था. आरोप था कि असलम ने शब्बीर शाह तथा उनके संबंधियों को कुल 2.25 करोड़ रुपये दिए. जिसके बाद ईडी ने मनी लॉन्ड्रिग एक्ट के तहत शब्बीर शाह और असलम वानी के खिलाफ केस दर्ज किया था. बाद में पुलिस ने 26 अगस्त 2005 को वानी को गिरफ्तार किया था.  

ये भी पढ़ें
भारत में आतंकवाद के लिए कई स्थानों से आ रहा है पैसा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO : अलगाववादी नेता शब्बीर शाह को हिरासत में लिया गया

पुलिस के मुताबिक, पूछताछ में असलम वानी ने 63 में से 50 लाख रुपए शब्बीर शाह को देने की बात कबूली थी. साथ ही बताया था कि ये पैसा मध्य एशिया से आया था. पुलिस ने ये भी दावा किया था कि असलम को इनमें से 10 लाख रुपए श्रीनगर में जैश-ए मोहम्मद के एरिया कमांडर अबु बकर को दिए जाने थे. वहीं समन के बावजूद पेश होने के सवाल पर शब्बीर शाह ने अपनी सफाई में कहा था कि ये आरोप राजनीति से प्रेरित हैं.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)