NDTV Khabar

लोकसभा चुनाव से पहले EPFO आज ब्याज दर पर कर सकता है बड़ा ऐलान

सूत्रों के मुताबिक सेंट्रल बॉर्ड ऑफ ट्रस्टीज संगठित क्षेत्र के कर्मचारियों के लिए न्यूनतम पेंशन ( मौजूदा एक हजार रुपए प्रति महीना है) बढ़ाने के प्रस्ताव पर भी विचार कर सकती है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लोकसभा चुनाव से पहले EPFO आज ब्याज दर पर कर सकता है बड़ा ऐलान

प्रतीकात्मक तस्वीर.

नई दिल्ली:

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ)नए वित्त वर्ष के लिए ब्याज दर को लेकर बड़ा फैसला कर सकता है. ब्याज दर के बदलाव का प्रभाव 45 लाख खाताधारकों पर पड़ेगा. इसके लिए श्रम मंत्रालय में आज तीन बजे सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज की बैठक होगी. इससे पहले सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज की फाइनेंस एंड इंवेस्टमेंट कमेटी की एक अहम बैठक हो रही है. इसमें ईपीएफओ के वित्तिय हालत की समीक्षा की जा रही है. ईपीएफओ के पास सरप्लस फंड की उपलब्धता के आधार पर कमेटी नए वित्त वर्ष के लिए ब्याज दर पर पनी सिफारिश सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज के सामने रखेगी. 

वहीं सूत्रों के मुताबिक सेंट्रल बॉर्ड ऑफ ट्रस्टीज संगठित क्षेत्र के कर्मचारियों के लिए न्यूनतम पेंशन ( मौजूदा एक हजार रुपए प्रति महीना है) बढ़ाने के प्रस्ताव पर भी विचार कर सकती है.


CSO रिपोर्ट में दावा: देश में नवंबर 2018 तक 15 महीने में 1.8 करोड़ नये रोजगार पैदा हुए

बता दें, पहले खबर आई थीं कि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) 2018-19 के लिए कर्मचारी भविष्य निधि पर ब्याज दर 8.55 प्रतिशत पर बरकरार रख सकता है. सूत्र ने कहा था, ‘ईपीएफओ के न्यासियों की 21 फरवरी को होने वाली बैठक में चालू वित्त वर्ष के लिये ब्याज दर के प्रस्ताव को रखा जाएगा. लोकसभा चुनाव को देखते हुए ब्याज दर चालू वित्त वर्ष के लिये 2017-18 की तरह 8.55 प्रतिशत पर बरकरार रखा जाएगा. ईपीएफओ के आय अनुमान को बैठक में रखा जाएगा.'

हालांकि सूत्र ने इस अटकल को भी पूरी तरह खारिज नहीं किया कि लोकसभा चुनाव के मद्देनजर चालू वित्त वर्ष के लिये ईपीएफ जमा पर ब्याज दर 8.55 प्रतिशत से अधिक हो सकती  श्रम मंत्री की अध्यक्षता वाला न्यासी बोर्ड ईपीएफओ का निर्णय लेने वाला शीर्ष निकाय है जो वित्त वर्ष के लिये भविष्य निधि जमा पर ब्याज दर को अंतिम रूप देता है.    बोर्ड की मंजूरी के बाद प्रस्ताव को वित्त मंत्रालय से सहमति की जरूरत होगी. वित्त मंत्रालय की मंजूरी के बाद ब्याज दर को अंशधारक के खाते में डाला जाएगा.

नौकरी पेशे वालों को नए साल का तोहफा, पीएफ खाताधारकों को मिल सकता है यह फायदेमंद विकल्प

टिप्पणियां

VIDEO- EPFO ऑफ़िस के बाहर क्यों जमा हैं सैकड़ों बुज़ुर्ग?

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement