महाराष्ट्र BJP के बड़े नेता रहे एकनाथ खड़से NCP में शामिल, देवेंद्र फडणवीस के साथ संबंधों में खटास की थी चर्चा

खडसे पूर्व मंत्री एवं राज्य विधानसभा में नेता विपक्ष रह चुके हैं. उन्होंने 2016 में तत्कालीन देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार में भ्रष्टाचार के आरोप लगने के बाद में पद से इस्तीफा दे दिया था और तबसे ही नाराज चल रहे थे.

महाराष्ट्र BJP के बड़े नेता रहे एकनाथ खड़से NCP में शामिल, देवेंद्र फडणवीस के साथ संबंधों में खटास की थी चर्चा

एकनाथ खड़से लंबे वक्त से बीजेपी से नाराज चल रहे थे.

खास बातें

  • एकनाथ खड़से NCP में शामिल
  • बीजेपी से लंबे समय से थे नाराज
  • शरद पवार के नेतृत्व में काम करने को राजी
नई दिल्ली:

कभी महाराष्ट्र बीजेपी के वरिष्ठ नेता रहे एकनाथ खड़से  (Eknath Khadse) ने शुक्रवार को शरद पवार की पार्टीनेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी (NCP) जॉइन कर ली. बीजेपी के साथ संबंधों में खटास आने के बाद खड़से ने बीजेपी से अपने रास्ते अलग कर लिए थे. इस बुधवार को ही उन्होंने घोषणा की थी कि वो शुक्रवार को एनसीपी में शामिल हो जाएंगे. महाराष्ट्र के मंत्री और एनसीपी नेता जयंत पाटिल ने भी बुधवार को साफ जाहिर कर दिया था कि एकनाथ खड़से एनसीपी में आ रहे हैं .आज उन्होंने पार्टी चीफ शरद पवार की मौजूदगी में पार्टी जॉइन की.

बता दें कि खडसे पूर्व मंत्री एवं राज्य विधानसभा में नेता विपक्ष रह चुके हैं. उन्होंने 2016 में तत्कालीन देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार में भ्रष्टाचार के आरोप लगने के बाद में पद से इस्तीफा दे दिया था और तबसे ही नाराज चल रहे थे. ऐसा माना जाता है कि जलगांव जिले से आने वाले खडसे के फडणवीस के साथ तनावपूर्ण संबंध है.

एक समय था जब फडणवीस मंत्रिमंडल में उन्हें नंबर दो का दर्जा मिला हुआ था लेकिन 2016 में भूमि अधिग्रहण संबंधी आरोपों के चलते राजस्व मंत्री के पद से इस्तीफा देने के बाद से उन्हें भगवा पार्टी में काफी हद तक दरकिनार कर दिया गया.

यह भी पढ़ें : CBI के अधिकार पर मोदी सरकार से नई लड़ाई मोल लेने को तैयार उद्धव ठाकरे, TRP घोटाले की जांच है वजह?

खड़से के साथ बीजेपी के संबंधों को लेकर एनसीपी ने भी टिप्पणी की है. जयंत पाटिल ने बुधवार दावा किया था कि कई लोग एनसीपी में शामिल होना चाहते हैं. खड़से पर उन्होंने कहा था, ‘एकनाथ खडसे साहब जिन्होंने दिवंगत गोपीनाथ मुंडे साहेब के साथ मिलकर महाराष्ट्र में बीजेपी का विस्तार करने के लिए कई वर्षों तक काम किया, उन्होंने मुझसे कुछ समय पहले कहा था कि वह पार्टी छोड़ना चाहते हैं.' उन्होंने दावा कि राज्य के लोगों ने देखा है कि पिछले कुछ सालों से बीजेपी में खडसे के साथ ‘अन्याय' हो रहा है, इसलिए ही वह पार्टी बदल रहे हैं.

एनसीपी में खड़से को क्या भूमिका दी जा सकती है, इस सवाल पर पाटिल ने कहा कि ‘पार्टी इसका निर्णय लेगी...उन्होंने पवार साहब के नेतृत्व में काम करने को लेकर सहमति जताई है.'

(एजेंसियों से इनपुट के साथ)

Video: महाराष्ट्र और केंद्र सरकार आमने-सामने

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com