मध्यप्रदेश के बैतूल में कर्ज से परेशान किसान ने कीटनाशक पीकर खुदकुशी की

मध्यप्रदेश में फसल की बर्बादी और कर्ज के बोझ से दबे किसानों की आत्महत्या का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है. बैतूल जिले में दो लाख रुपये के कर्ज के चलते किसान ने कीटनाशक पीकर खुदकुशी कर ली.

मध्यप्रदेश के बैतूल में कर्ज से परेशान किसान ने कीटनाशक पीकर खुदकुशी की

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  • किसान ने कीटनाशक पीकर दी जान
  • किसान पर था दो लाख रुपये का कर्ज
  • पोस्टमार्टम के बाद परिवार को सौंपा गया शव
बैतूल:

मध्यप्रदेश में फसल की बर्बादी और कर्ज के बोझ से दबे किसानों की आत्महत्या का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है. बैतूल जिले में दो लाख रुपये के कर्ज के चलते किसान ने कीटनाशक पीकर खुदकुशी कर ली.

पुलिस के मुताबिक, आठनेर ब्लॉक के चकोरा गांव के निवासी पंजू कुमरे के पास आठ एकड़ जमीन है. उसने बीते चार साल पहले मासोद के महाराष्ट्र बैंक से किसान क्रेडिट कार्ड पर दो लाख रुपये का कर्ज लिया था. चार-पांच सालों से उसकी खेती ठीक नहीं होने के कारण वह कर्ज नहीं चुका पा रहा था, जिससे वह तनाव में था. इसी के चलते उसने शुक्रवार देर रात कीटनाशक पी ली.

यह भी पढ़ें : महाराष्ट्र के मराठवाड़ा में सात माह में 580 किसानों ने की खुदकुशी : सरकारी रिपोर्ट
 
परिजनों ने बताया कि देर रात पंजू को मूर्छित अवस्था में आठनेर के उपस्वास्थ केंद्र में भर्ती कराया गया. गंभीर अवस्था को देखकर पंजू को वहां से जिला अस्पताल रेफर किया गया, मगर रास्ते में उसकी मौत हो गई. मृतक किसान की पत्नी सुशीला ने कहा, कर्ज की वजह से मेरे पति तनाव में थे और इसी के चलते उन्होंने जहर पीकर आत्महत्या कर ली. 

Newsbeep

VIDEO: कर्ज के चलते एक और किसान ने जान दी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्पताल चौकी प्रभारी सुरेंद्र वर्मा ने शनिवार को संवाददाताओं को बताया कि मृतक किसान का पोस्टमार्टम करवाने के उपरांत शव परिजनों को सौंप दिया गया है. किसान द्वारा आत्महत्या किए जाने की जानकारी मिलने पर स्थानीय विधायक हेमंत खंडेलवाल ने मृतक के शव को गांव तक पहुंचाने के लिए तत्काल शव वाहन उपलब्ध कराया, साथ ही अंतिम संस्कार के लिए दो हजार रुपये की आर्थिक मदद की.