'जॉर्ज फ्लॉयड ऑफ़ इंडिया': तमिलनाडु में पुलिस हिरासत में पिता-पुत्र की मौत से लोगों में भड़का गुस्सा, ऐसे आए रिएक्शन

तमिलनाडु के तूतीकोरिन में पुलिस हिरासत में एक पिता और बेटे की मौत की घटना ने पूरे देश को हिला कर रख दिया है. इस तरह से पिता और बेटे की मौत की वजह से लोगों में भारी गुस्सा है. लोग अपना विरोध करने के लिए सड़क पर उतर आए हैं.

'जॉर्ज फ्लॉयड ऑफ़ इंडिया': तमिलनाडु में पुलिस हिरासत में पिता-पुत्र की मौत से लोगों में भड़का गुस्सा, ऐसे आए रिएक्शन

तमिलनाडु के तूतीकोरिन में पुलिस हिरासत में पिता और बेटे की मौत की घटना ने पूरे देश को हिला कर रख दिया है. इस तरह से पिता और बेटे की मौत की वजह से लोगों में भारी गुस्सा है. लोग अपना विरोध दर्ज करने के लिए सड़क पर उतर आए हैं. सिर्फ इतना ही नहीं लोग सोशल मीडिया के जरिए भी अपना आक्रोश व्यक्त कर रहे हैं. आपको बता दें कि विपक्षी दल डीएमके ने इस घटना को लेकर एआईएडीएमके सरकार पर हमला किया है. डीएमके ने एआईडीएमके पर हमला करते हुए कहा कि, पुलिस कानून को अपने हाथ में कैसे ले सकती है. वहीं सरकार ने परिवारवालों की सहायता के लिए 25 लाख रूपए की घोषणा के साथ- साथ नौकरी देने का वादा किया है.

डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन ने कहा," पुलिस ने जिस तरह से इन दो लोगों को यातना दी है ये पुलिस द्वारा अपने हाथ में कानून लेने का नतीजा है. इस पूरी घटना को किस तरह से अंजाम दिया गया है. इसके बारे में आपको बताते हैं. दरअसल बात यह है कि ये पिता और बेटे एक मोबाइल की दुकान चलाते थे. और एक दिन पुलिस उन्हें पकड़कर ले गई बाद में पता चला कि पिता और बेटे ने निर्धारित समय के बाद भी दुकान खुला रखा था इसलिए पुलिस ने हिरासत में ले लिया. पिता-पुत्र को हिरासत में लेने के बाद उनकी काफी पिटाई  की गई. जिसके बाद उन्हें हॉस्पिटल में एडमिट करवाया गया और फिर अस्पताल में दोनों की मौत हो गई. 

परिवारवालों का आरोप है कि पुलिस द्वारा इन दोनों के साथ काफी मारपीट की गई थी. जिसके निशान दोनों के शऱीर पर भी थे. पिता और बेटे की मौत का विरोध करते हुए आज तूतीकोरिन में सभी दुकामें बंद रखी गई है. इस मामले में 4 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड भी कर दिया गया है. इस पूरी घटना पर मुख्यमंत्री ईके पलानीस्वामि ने दुख जताया है.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इस पूरे मामले पर दुख जताते हुए कहा कि, दुख की बात है कि रक्षक ही शोषक बन जाता है. राहुल ने ट्वीट किया , "पुलिस द्वारा हिंसा एक जघन्य अपराध है. यह विडंबना है कि जब रक्षक ही शोषक बन जा रहे हैं. " 

इस पूरे मामले पर एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा ने भी ट्वीट किया है. उन्होंने कहा - मैं यह खबर सुनकर बेहद हैरान हो गई कि ऐसे कैसे हो सकता है. इसकी पूरी सच्चाई सामने आनी चाहिए. आगे प्रियंका लिखती है कि इस खबर को सुनने के बाद मैं दुखी तो हुई ही लेकिन साथ ही साथ मैं हैरानी थी और मुझे भी गुस्सा भी आ रहा था.

गुजरात के निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी ने इस घटना की तुलना अमेरिका में अफ्रीकी-अमेरिकी व्यक्ति जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या से की है. साथ ही उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, "प्रिय बॉलीवुड सेलेब्स, क्या आपने सुना तमिलनाडु में क्या हुआ है? क्या आप दूसरे देशों में होने वाली घटनाओं पर ही इंस्टाग्राम पर एक्टिव होंगे. भारत में कई ऐसे जॉर्ज फ़्लॉड्स हैं. जो पुलिस हिंसा और यौन शोषण का शिकार हो जाते हैं.

क्रिकेटर शिखर धवन ने ट्वीट किया, "तमिलनाडु में जयराज एंड फेनिक्स पर हुई बर्बरता के बारे में सुनकर मैं अंदर से घबरा गया. हमें अपनी आवाज उठानी चाहिए और सुनिश्चित करना चाहिए कि परिवार (न्यायिक) को न्याय मिले."

Newsbeep

तमिल एक्टर जयम रवि ने ट्वीट किया, कोई भी व्यक्ति कानून से ऊपर नहीं है, इस अमानवीय घटना के लिए न्याय अवश्य होना चाहिए.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


आपको बता दें कि फिलहाल यह मामला मद्रास उच्च न्यायालय की मदुरै पीठ के पास है.