JNU हिंसा: जब JNUSU अध्यक्ष आयशी घोष के सिर से बह रहा था खून, तभी 4 मिनट के गैप पर उसके खिलाफ दर्ज हुए 2 केस

जेएनयू परिसर में रविवार रात लाठियों और लोहे की छड़ों से लैस कुछ नकाबपोश लोगों ने परिसर में प्रवेश कर छात्रों तथा शिक्षकों पर हमला कर दिया था और परिसर में संपत्ति को नुकसान पहुंचाया था.

JNU हिंसा: जब JNUSU अध्यक्ष आयशी घोष के सिर से बह रहा था खून, तभी 4 मिनट के गैप पर उसके खिलाफ दर्ज हुए 2 केस

जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष ऐशी घोष.

नई दिल्ली:

दिल्ली पुलिस ने रविवार शाम जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में हुई हिंसा से एक दिन पहले यूनिवर्सिटी के सर्वर रूम में कथित रूप में तोड़फोड़ करने के मामले में जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष आयशी घोष और 19 अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. 1 जनवरी के मामले में भी एक एफआईआर दर्ज की गई है. दोनों मामलों में ही आयशी घोष के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. ये दोनों एफआईआर जेएनयू प्रशासन की तरफ से दर्ज कराई गई थी. जेएनयू में हुई हिंसा में कुछ छात्रों और शिक्षकों समेत 34 लोग जख्मी हुए हैं. इस हिंसा में आयशी घोष को सिर में चोट आई थी.

दक्षिण पश्चिम दिल्ली के डीसीपी देवेंद्र आर्या ने एनडीटीवी से बात करते हुए कहा कि 'हमें पहली शिकायत 3 जनवरी को और दूसरी 4 जनवरी को मिली. शिकायतों को जांचा गया. उसके बाद हमने 5 तारीख को एक साथ केस दर्ज किए. जेएनयू की तरफ से जो शिकायत दी गयी थी और शिकायत में जो नाम दिए गए थे उनके खिलाफ ही केस दर्ज हुए हैं. कोई पक्षपातपूर्ण कार्रवाई नहीं हुई है.'

पहली FIR- 
घटना का वक़्त: दोपहर एक बजे, 1 जनवरी
FIR का वक़्त: रात 8.39 बजे, 5 जनवरी
आरोपी: आयशी घोष और 7 अन्य
शिकायतकर्ता: जेएनयू प्रशासन
मामला: मारपीट, सर्वर को नुकसान और तोड़फोड़

दूसरी FIR-
घटना का वक़्त: सुबह 6 बजे, 4 जनवरी
FIR का वक़्त: रात 8.43 बजे, 5 जनवरी
आरोपी: आयशी घोष र 20 अन्य
शिकायतकर्ता: जेएनयू प्रशासन
मामला: मारपीट, सर्वर को नुकसान और तोड़फोड़

तीसरी FIR-
घटना का वक़्त: शाम 6.26 बजे, 5 जनवरी
FIR का वक़्त: सुबह 5.36 बजे, 6 जनवरी
आरोपी: अज्ञात 
शिकायतकर्ता: दिल्ली पुलिस
मामला: दंगा करना, सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान

वहीं, दूसरी ओर हाथों में टैम्बोरिन और गिटार लिए तथा क्रांति के गीत गाते प्रदर्शनकारियों ने जेएनयू में हुए हमले के विरोध में गेटवे ऑफ इंडिया और ताज महल पैलेस होटल के बाहर रातभर प्रदर्शन किया. हालांकि, पुलिस ने बताया कि अब प्रदर्शनकारियों को गेटवे ऑफ इंडिया से हटाकर आजाद मैदान भेज दिया गया है. रविवार आधी रात को दक्षिण मुम्बई के कोलाबा में गेटवे ऑफ इंडिया के सामने बड़ी संख्या में छात्रों और महिलाओं सहित बड़ी संख्या में लोग जमा हुए थे. बाद में अनुराग कश्यप, स्वरा भास्कर और विशाल ददलानी जैसी बॉलीवुड हस्तियां भी यहां पहुंची.

JNU Violence: प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने गेटवे ऑफ इंडिया से जबरन उठाकर आजाद मैदान किया शिफ्ट, देखें Video

गौरतलब है कि जेएनयू परिसर में रविवार रात लाठियों और लोहे की छड़ों से लैस कुछ नकाबपोश लोगों ने परिसर में प्रवेश कर छात्रों तथा शिक्षकों पर हमला कर दिया था और परिसर में संपत्ति को नुकसान पहुंचाया था. बाद में प्रशासन को पुलिस को बुलाना पड़ा.

JNU हिंसा: 'हमले के वक्त जय श्री राम के नारे लगा रहे थे हमलावर', चश्मदीदों ने न्यूयॉर्क टाइम्स को बताया

Newsbeep

आईआईटी बॉम्बे, टीआईएसएस और एएसएफआई के छात्रों समेत कई छात्र संगठनों के सदस्यों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के खिलाफ नारे भी लगाए. प्रदर्शन स्थल पर भारी पुलिस की तैनाती की गई थी और प्रदर्शनकारियों को पानी, चाय, बिस्कुट और फल दिए गए. नागरिक निकायों ने शौचालय की व्यवस्था भी की.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: रवीश कुमार का प्राइम टाइम : JNU में फिर हिंसा - क्रोनोलॉजी से पहले थेथरोलॉजी समझिए