NDTV Khabar

गगनयान : पायलट भी बन सकेंगे अंतरिक्ष यात्री, इसरो ने दिया संकेत

देश के पहले मानवयुक्त अंतरिक्ष मिशन ‘गगनयान’ से जाने वाले अंतरिक्ष यात्रियों की तलाश कर रहा इसरो

74 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
गगनयान : पायलट भी बन सकेंगे अंतरिक्ष यात्री, इसरो ने दिया संकेत

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  1. उड़ान का पर्याप्त अनुभव रखने वाले लोगों की तलाश
  2. चयन में भारतीय वायुसेना और अन्य एजेंसियों की भी भूमिका
  3. दिसंबर 2021 तक मानवयुक्त गगनयान मिशन पूरा किया जाएगा
नई दिल्ली:

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के वैज्ञानिकों ने शुक्रवार को संकेत दिया कि देश के पहले मानवयुक्त अंतरिक्ष मिशन ‘गगनयान' से जाने वाले अंतरिक्ष यात्री पायलट हो सकते हैं.

नाम न बताने की शर्त पर इसरो के वैज्ञानिक ने कहा, ‘‘हम उड़ान का पर्याप्त अनुभव रखने वाले लोगों की तलाश कर रहे हैं.'' इसरो के चेयरमैन के सीवान ने कहा कि मानव अंतरिक्ष मिशन के लिए अंतरिक्ष यात्रियों के चयन में भारतीय वायुसेना और अन्य एजेंसियों की अहम भूमिका होगी.

Gaganyaan Mission: मोदी सरकार ने दी गगनयान कार्यक्रम को मंजूरी, 3 भारतीय 7 दिन के लिए भेजे जाएंगे स्पेस में

एक अन्य वैज्ञानिक ने कहा कि इस काम में रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन की भी अहम भूमिका होगी. एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए सीवान ने कहा कि पहले मानवरहित ‘गगनयान' को दिसंबर 2020 में प्रक्षेपित किए जाने की योजना है. दूसरा मानवरहित यान जुलाई 2021 तक भेजे जाने की उम्मीद है और फिर अंतत: दिसंबर 2021 तक पहला मानवयुक्त गगनयान मिशन पूरा किया जाएगा.


VIDEO : तीन भारतीय अंतरिक्ष में जाएंगे

टिप्पणियां

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2022 तक ‘गगनयान' के माध्यम से तीन अंतरिक्ष यात्रियों को अंतरिक्ष में भेजने की घोषणा की थी.

(इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement