CAA-NRC पर विपक्षी दलों की बैठक में सरकार पर बरसीं सोनिया गांधी, 'देश में उथल-पुथल का माहौल है और...'

सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने कहा कि, 'सरकार लोगों को दबाने, नफरत फैलाने और विभाजन का काम कर रही है.

CAA-NRC पर विपक्षी दलों की बैठक में सरकार पर बरसीं सोनिया गांधी, 'देश में उथल-पुथल का माहौल है और...'

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ राहुल गांधी.

खास बातें

  • सीएए-NRC के विरोध में विपक्षी दलों की बैठक
  • सोनिया गांधी ने पीएम मोदी-अमित शाह पर बोला हमला
  • कहा- CAA-NRC पर मोदी-शाह ने देश को किया गुमराह
नई दिल्ली:

नागरिकता कानून (Citizenship Amendment Act) और NRC के खिलाफ देश भर में हो रहे प्रदर्शनों के बीच कांग्रेस ने विपक्षी दलों की दिल्ली में बैठक बुलाई. संसद भवन परिसर में हुई विपक्षी दलों की बैठक में देश के राजनीतिक हालात पर चर्चा की गई. बैठक में हालांकि ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) की टीएमसी, शिवसेना और आम आदमी पार्टी नदारद रहीं. बैठक में सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने कहा कि, 'सरकार लोगों को दबाने, नफरत फैलाने और विभाजन का काम कर रही है. अभूतपूर्व उथल-पुथल का माहौल है. संविधान को कमजोर किया जा रहा है और शासन का दुरुपयोग हो रहा है. 

एनआरसी और सीएए का उल्लेख करते हुए सोनिया गांधी ने आरोप लगाया कि मोदी और अमित शाह ने देश को गुमराह किया है. उन्होंने दावा किया, 'असम में एनआरसी उल्टा पड़ गई. मोदी-शाह सरकार अब एनपीआर की प्रक्रिया को करने में लगी है. यह स्पष्ट है कि एनपीआर को पूरे देश में एनआरसी लागू करने के लिए किया जा रहा है.' 

कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा बुलाई गई बैठक में 20 दलों के नेता शामिल हुए. पार्लियामेंट एनेक्सी में हुई बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, राकांपा प्रमुख शरद पवार, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल, ए के एंटनी, के सी वेणुगोपाल, गुलाम नबी आजाद और रणदीप सुरजेवाला, माकपा के सीताराम येचुरी, भाकपा के डी राजा, झामुमो के नेता एवं झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, राकांपा के प्रफुल्ल पटेल, राजद के मनोज झा, नेशनल कांफ्रेस के हसनैन मसूदी और रालोद के अजित सिंह मौजूद थे.

CAA के विरोध में आयोजित विपक्ष की बैठक का ममता बनर्जी ने किया बहिष्कार, तो सीताराम येचुरी ने दी नसीहत

बैठक में शामिल होने से इनकार करने के बाद सोमवार को मायावती ने एक ट्वीट किया. उन्होंने लिखा कि जैसा कि विदित है कि राजस्थान में कांग्रेसी सरकार को बीएसपी का बाहर से समर्थन दिये जाने पर भी, इन्होंने दूसरी बार वहां बीएसपी के विधायकों को तोड़कर उन्हें अपनी पार्टी में शामिल करा लिया है जो यह पूर्णतयाः विश्वासघाती है. ऐसे में कांग्रेस के नेतृत्व में आज विपक्ष की बुलाई गई बैठक में बीएसपी का शामिल होना, यह राजस्थान में पार्टी के लोगों का मनोबल गिराने वाला होगा. इसलिए बीएसपी इनकी इस बैठक में शामिल नहीं होगी.

Newsbeep

CAA के खिलाफ विपक्षी एकता में दरार? सोनिया गांधी की बैठक में हिस्सा लेने से ममता बनर्जी ने किया इनकार

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: CAA के विरोध में बैठक, बिखरी विपक्षी एकता​