NDTV Khabar

राम रहीम का बैग उठाकर साथ चल रहे थे हरियाणा सरकार के उप महाधिवक्ता, किए गए बर्खास्त

राज्य सरकार ने उप महाधिवक्ता गुरदास सलवारा को राज्य के महाधिवक्ता बलदेव राज महाजन की सिफारिश पर बर्खास्त किया गया है.

7.4K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
राम रहीम का बैग उठाकर साथ चल रहे थे हरियाणा सरकार के उप महाधिवक्ता, किए गए बर्खास्त

उप महाधिवक्ता डेरा प्रमुख का सूटकेस लेकर चल रहे थे.

खास बातें

  1. वीडियो में सामने आया मामला
  2. फैसला आने के बाद उप महाधिवक्ता ने उठाया था राम रहीम का बैग
  3. महाधिवक्ता बलदेव राज महाजन ने की थी बर्खास्त करने की सिफारिश
नई दिल्ली: हरियाणा सरकार ने डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को बलात्कार के मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद उनके साथ ‘चलने’ पर राज्य के उप महाधिवक्ता को बर्खास्त कर दिया है. राज्य सरकार ने उप महाधिवक्ता गुरदास सलवारा को राज्य के महाधिवक्ता बलदेव राज महाजन की सिफारिश पर बर्खास्त किया गया है. महाजन ने कहा, ‘यह पाया गया कि कल उप महाधिवक्ता बाबा के साथ चल रहे थे.’ उन्होंने कहा कि उप महाधिवक्ता एक सरकारी नौकर होता है और उसे इस तरह की चीजों की इजाजत नहीं है.

पढ़ें :  खट्टर सरकार को कांग्रेस ने कहा- 'निकम्मी', राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग

महाजन ने दावा किया, ‘उप महाधिवक्ता का डेरा के साथ संबंध है.’ महाधिवक्ता कार्यालय की ओर से यह कार्रवाई उस वक्त की गई है जब एक वीडियो में दिखा कि उप महाधिवक्ता डेरा प्रमुख का सूटकेस लेकर चल रहे हैं.

वीडियो : शुरू हुई कार्रवाई

गौरतलब है कि हरियाणा सरकार पर पहले  से ही गुरमीत राम रहीम को वीआईपी सुविधा देने के आरोप लग रहे हैं. जिस तरह से उनको हेलिकॉप्टर से जेल ले जाया गया है इससे भी लोगों का शक बढ़ गया है. वहीं खबरें हैं कि जेल में भी राम रहीम को खास सुविधाएं दी जा रही हैं. उनको एयर कंडीशन वाला कमरा दिया गया है. हालांकि हरियाणा के मुख्य सचिव ने सफाई दी है कि राम रहीम को आम कैदियों की तरह ही रखा गया है. सोमवार को राम रहीम को सजा सुनाई जाएगी. अब देखने वाली बात यह होगी कि क्या डेरा प्रमुख को सजा सुनाए जाने के बाद किसी और जेल भेजा जाएगा. 

पढ़ें : गुरमीत राम रहीम से वापस ली गई 'जेड प्लस' सुरक्षा

वहीं इन सबके बीच फैसला लिया गया है कि सोमवार को रोहतक जेल में ही सीबीआई की विशेष अदालत लाई जाएगी और एक बजे तक सजा का ऐलान कर दिया जाएगा. सुरक्षा को देखते हुए जेल में अदालत लगाए जाने का फैसला किया गया है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement