'बीजेपी को कैसे रोकना है, हैदराबाद ने बता दिया है' GHMC में 33 सीट गंवाकर बोलीं KCR की बेटी

सीएम की बेटी ने कहा, "हमारी पार्टी कमजोर नहीं है. हम 60 लाख सदस्यों वाली एक अच्छी और संगठित पार्टी हैं और यह सुनिश्चित करने के लिए कि हम उनसेएक कदम आगे हैं, 2023 का विधान सभा चुनाव बेहतर ढंग से लड़ेंगे."

'बीजेपी को कैसे रोकना है, हैदराबाद ने बता दिया है' GHMC में 33 सीट गंवाकर बोलीं KCR की बेटी

कविता ने चुनाव परिणामों को आत्मनिरीक्षण करने के प्रेरणा देने वाला बताया है और कहा कि करीब एक दर्जन सीटों पर उनकी पार्टी बहुत कम मार्जिन से हारी है.

खास बातें

  • तेलंगाना के सीएम KCR की बेटी ने कहा- हमने बीजेपी को रोक दिया है
  • GHMC चुनाव नतीजों को कविता ने आत्मनिरीक्षण करने वाला बताया है
  • ओवैसी से समर्थल लेने पर अभी नहीं खोले पत्ते, बोलीं- पार्टी में होगी चर्चा
हैदराबाद:

तेलंगाना की सत्ताधारी तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) भले ही ग्रेटर हैदराबाद म्युनिसिपल कॉरपोरेशन (GHMC) चुनावों में 56 सीट जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बन गई हो लेकिन उसे मेयर चुनने में सांसद असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM का सपोर्ट लेना पड़ेगा. बीजेपी ने TRS को तगड़ा झटका देते हुए 48 सीटों पर कब्जा किया है. इसबीच, टीआरएस की वरिष्ठ नेता और मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव की बेटी के. कविता ने ओवैसी से समर्थन लेने के मसले पर एनडीटीवी से खास बातचीत में कहा, "अभी इसमें वक्त लगेगा. पहले हमलोग उस पर चर्चा करेंगे, फिर फैसला करेंगे."

कविता ने चुनाव परिणामों को आत्मनिरीक्षण करने के प्रेरणा देने वाला बताया है और कहा कि करीब एक दर्जन सीटों पर उनकी पार्टी बहुत कम मार्जिन से हारी है. उन्होंने कहा, "भाजपा ने दिग्गज नेताओं को लोकल चुनावों में उतारकर मतदाताओं को भ्रमित किया है. हर जगह आक्रामक होने के लिए यह भाजपा की रणनीति है. हम अब भाजपा की रणनीति को समझ चुके हैं और आगे यह सुनिश्चित करेंगे कि हम 2023 के विधानसभा चुनाव में उनसे भी एक कदम आगे रहें.

GHMC चुनाव में 86% रहा AIMIM का स्ट्राइक रेट, अब किंगमेकर की भूमिका में असदुद्दीन ओवैसी

सीएम की बेटी ने कहा, "हमारी पार्टी कमजोर नहीं है. हम 60 लाख सदस्यों वाली एक अच्छी और संगठित पार्टी हैं और यह सुनिश्चित करने के लिए कि हम उनसेएक कदम आगे हैं, 2023 का विधान सभा चुनाव बेहतर ढंग से लड़ेंगे." टीआरएस नेता ने कहा, "हम सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभर रही भाजपा को रोकने में कामयाब रहे हैं. बाकी देश टीआरएस से यह सीख सकते हैं कि हैदराबाद ने कैसे भाजपा को रोकने का रास्ता दिखाया है."

हैदराबाद निकाय चुनाव में AIMIM तीसरे नंबर पर पहुंची, नतीजों पर ओवैसी की पहली प्रतिक्रिया...

Newsbeep

2016 के GHMC चुनावों में सत्ताधारी तेलंगाना राष्ट्रीय समिति ने 99 सीटें जीती थीं और मेयर पद पर कब्जा जमाया था. तब बीजेपी को सिर्फ 4 और असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM को 44 सीटें मिलीं थीं. बीजेपी ने धुआंधार प्रचार और हिन्दू कार्ड खेलते हुए हैदराबाद में जबर्दस्त जीत दर्ज की है और अपनी ताकत 12 गुना बढ़ाई है. 

वीडियो- हाईप्रोफाइल हैदराबाद नगर निगम चुनाव में बीजेपी ने 48 सीटों पर जीत दर्ज की

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com