VIDEO: निर्मला सीतारमण के बाद अब केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे का आया बयान, कहा- 'मैंने कभी प्याज नहीं चखा क्योंकि...' 

प्याज को लेकर अब केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे (Ashwini Choubey) का बयान सामने आया है. न्यूज एजेंसी ANI से बात करते हुए अश्विनी चौबे ने कहा, 'मैं शाकाहारी आदमी हूं और मैंने कभी प्याज चखा नहीं, इसलिए मुझे नहीं पता कि प्याज की क्या स्थिति है.

VIDEO: निर्मला सीतारमण के बाद अब केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे का आया बयान, कहा- 'मैंने कभी प्याज नहीं चखा क्योंकि...' 

केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे (Ashwini Choubey)

खास बातें

  • प्याज की बढ़ती कीमतों पर संसद में भी हंगामा
  • अश्विनी चौबे बोले- 'मैं शाकाहारी हूं प्याज नहीं खाता'
  • 'मेरे जैसे आदमी को क्या पता कि प्याज की क्या स्थिति है'
नई दिल्ली:

महंगे होते प्याज की कीमत (Onion Price) कम होने का नाम नहीं ले रही है. हर रोज प्याज के दाम बढ़ते ही जा रहे हैं. प्याज की बढ़ती कीमतों को लेकर संसद में भी इस मुद्दे पर काफी हंगामा हो चुका है. देश के कई हिस्सों में प्याज की कीमत 120 से 150 रुपये किलो तक पहुंच चुकी है. लोकसभा में चर्चा के दौरान बुधवार को वित्त मंत्र निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने कहा कि प्याज की बढ़ती कीमतों से व्यक्तिगत तौर पर उनपर कोई खास असर नहीं पड़ा है, क्योंकि उनका परिवार प्याज-लहसुन जैसी चीजों को खास पसंद नहीं करता है. इसे लेकर उन्हें जमकर ट्रोल किया गया. अब एक और केंद्रीय मंत्री का बयान सामने आया है. अब केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे (Ashwini Choubey) का बयान सामने आया है. न्यूज एजेंसी ANI से बात करते हुए अश्विनी चौबे ने कहा, 'मैं शाकाहारी आदमी हूं और मैंने कभी प्याज चखा नहीं, तो मेरे जैसे आदमी को क्या मालूम कि प्याज की क्या स्थिति है?' अश्विनी चौबे ने निर्मला सीतारमण के बयान का बचाव भी किया. उन्होंने कहा कि सीतारमण जी ने कभी कोई विवादास्पद बयान नहीं दिया है.  

बता दें कि लोकसभा में चर्चा के दौरान निर्मला सीतारमण ने कहा, 'मैं बहुत ज्यादा प्याज-लहसुन नहीं खाती...इसलिये चिंता न करें. मैं ऐसे परिवार से आती हूं, जिसे प्याज की कोई खास परवाह नहीं है.' वित्त वर्ष 2019-20 के लिए अनुदानों की अनुपूरक मांगों के पहले बैच पर लोकसभा में हुई चर्चा का जवाब देते हुए वित्त मंत्री ने कहा, ‘‘प्याज के भंडारण से कुछ ढांचागत मुद्दे जुड़े हैं और सरकार इसका निपटारा करने के लिये कदम उठा रही है.''

उन्होंने कहा कि खेती के रकबे में कमी आई है और उत्पादन में भी गिरावट दर्ज की गई है लेकिन सरकार उत्पादन को प्रोत्साहित करने के लिये कदम उठा रही है. सीतारमण ने कहा कि प्याज की कीमतों को नियंत्रित करने के लिये मूल्य स्थिरता कोष का उपयोग किया जा रहा है. इस संबंध में 57 हजार मीट्रिक टन का बफर स्टाक बनाया गया है। इसके अलावा मिस्र और तुर्की से भी प्याज आयात किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र और राजस्थान के अलवर जैसे क्षेत्रों से दूसरे प्रदेशों में प्याज की खेप भेजी जा रही है. 

Newsbeep

VIDEO: देश के कई हिस्सों में 150 रुपये किलो पहुंची प्याज की कीमत

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(भाषा से भी इनपुट)