एयर स्ट्राइक पर ममता बनर्जी ने उठाए सवाल: देश जानना चाहता है कि आतंकी कैंप पर हमले में कितने मरे?

भारत और पाकिस्तान के बीच जारी तनाव के बीच ममता बनर्जी ने आतंकी कैंप पर भारतीय वायुसेना द्वारा एयर स्ट्राइक (IAF Air Strike) पर सवाल उठाए हैं.

एयर स्ट्राइक पर ममता बनर्जी ने उठाए सवाल: देश जानना चाहता है कि आतंकी कैंप पर हमले में कितने मरे?

Air Strike पर ममता बनर्जी ने उठाए सवाल (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

भारत और पाकिस्तान के बीच जारी तनाव के बीच ममता बनर्जी ने आतंकी कैंप पर भारतीय वायुसेना द्वारा एयर स्ट्राइक (IAF Air Strike) पर सवाल उठाए हैं. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata banerjee) ने बृहस्पतिवार को कहा कि जवानों का जीवन चुनावी राजनीति से ज्यादा कीमती है, लेकिन देश को यह जानने का अधिकार है कि पाकिस्तान के बालाकोट में वायुसेना के हवाई हमले के बाद वास्तव में वहां क्या हुआ था. बता दें कि 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान की जमीन पर जैश के आतंकी कैंप पर एयर स्ट्राइक किया था, जिसमें करीब 300 आतंकी मार गिराए गये. 

भारतीय पायलट का आज 'अभिनंदन: दुश्मन विमान को ध्वस्त कर कैसे पहुंचे सीमा पार, जानें भारत-पाक के बीच अब तक क्या हुआ

विदेशी मीडिया की उन रिपोर्टों का हवाला देते हुए जिनमें कहा गया था कि बालाकोट में आतंकी शिविरों पर भारतीय वायु सेना के हमलों से कोई नुकसान नहीं हुआ है, ममता ने कहा, "बलों को तथ्यों के साथ सामने आने का मौका दिया जाना चाहिए." ममता ने यहां राज्य सचिवालय में संवाददाताओं से कहा, "हवाई हमलों के बाद, हमें बताया गया कि 300 मौतें हुईं, 350 मौतें हुईं. लेकिन मैंने न्यूयॉर्क टाइम्स और वॉशिंगटन पोस्ट में ऐसी खबरें पढ़ीं जिनमें कहा गया कि कोई इंसान नहीं मारा गया. एक अन्य विदेशी मीडिया रिपोर्ट में केवल एक व्यक्ति के घायल होने की बात कही गई थी." 

पाकिस्तान को आतंकियों के खात्मे के लिए मिले थे F-16, भारत के खिलाफ किया इस्तेमाल

उन्होंने कहा, "हमें यह जानने का अधिकार है, इस देश के लोग यह जानना चाहते हैं कि कितने मारे गए (बालाकोट में) वास्तव में बम कहां गिराया गया था? क्या यह लक्ष्य पर गिरा था?" इससे पहले सरकारी अधिकारियों ने मंगलवार को कहा था वायुसेना ने पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के बड़े प्रशिक्षण शिविरों पर बम गिराकर उन्हें तबाह कर दिया, जिसमें 350 आंतकवादी, उनके प्रशिक्षक और बड़े कमांडर मारे गए. 

भारतीय पायलट अभिनंदन को पाकिस्तान जेनेवा संधि के तहत रिहा करेगा

दरअसल, 26 फरवरी को पुलवामा आतंकी हमले का बदला लेने के लिए भारत ने पाकिस्तानी सरजमीं पर पल रहे जैश के आतंकी ठिकानों पर हमला बोला. भारतीय वायुसेना ने मंगलवार सुबह पाकिस्तान के बालाकोट में जैश ए मोहम्मद के आतंकी शिविर पर बम गिराए थे और करीब 300 आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया था.  इस दौरान भारत ने करीब 12 मिराज लड़ाकू विमानों का इस्तेमाल किया और 1000 किलो बमों की बारिश कर दी. इसके बाद पाकिस्तान की बौखलाहट सामने आने लगी और उसने भारत के दावे को खारिज करने की कोशिश की. आतंकी ठिकानों पर भारत की एयरस्ट्राइक के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव और बढ़ गया. हालांकि, एयरस्ट्राइक के बाद भारत ने इसकी सूचना तमाम देशों को दे दी. 

तीनों सेनाओं की प्रेस कॉन्फ्रेंस: 'हम पाकिस्तान के किसी भी दुस्साहस का जवाब देने को तैयार हैं'

बुधवार को पाकिस्तान ने भारतीय सीमा (India) में घुसने की नापाक कोशिश की, जिसे भारतीय वायुसेना ने असफल कर दिया और उसके एक लड़ाकू विमान को मार गिराया. हालांकि, इस जवाबी कार्रवाई में हमारा भी एक विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया और एक पायलट लापता हो गया, जो बाद में पता चला कि वह पाकिस्तान की हिरासत में है. भारत की ओर से कार्रवाई और पाकिस्तान की नापाक कोशिशों के बाद भारत-पाक के बीच काफी तनातनी बढ़ गई. हालांकि, गुरुवार को पाकिस्तान ने पायलट अभिनंदन की रिहाई का ऐलान कर दिया और आज पायलट अभिनंदन भारत आएंगे.  (इनपुट भाषा से)

VIDEO: तीनों सेनाओं की प्रेस कॉन्‍फ्रेंस : हम जो करना चाहते थे वो कर दिया

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com