NDTV Khabar

रक्षा बलों में बढ़ रही नारी शक्ति, मुस्तैदी से ड्यूटी कर रहीं 3,578 महिलाएं

11 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
रक्षा बलों में बढ़ रही नारी शक्ति, मुस्तैदी से ड्यूटी कर रहीं 3,578 महिलाएं

पहले बैच की तीन महिला अधिकारियों को लड़ाकू शाखा में 18 जून 2016 को कमीशन दिया गया था.

खास बातें

  1. 16 मार्च 2017 की स्थिति के अनुसार नौसेना में 469 महिलाएं
  2. एक मार्च 2017 की स्थिति के अनुसार वायु सेना में 1581 महिलाएं
  3. 2017 में मार्च तक सेना में 35 महिला अधिकारियों की भर्ती
नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने बताया कि रक्षा बलों में 3,578 महिलाएं कार्यरत हैं. रक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष भामरे ने राज्यसभा को एक प्रश्न के लिखित उत्तर में बताया कि सेना में एक जनवरी 2017 की स्थिति के अनुसार 1528 महिलाएं, नौसेना में 16 मार्च 2017 की स्थिति के अनुसार, 469 महिलाएं और वायु सेना में एक मार्च 2017 की स्थिति के अनुसार 1581 महिलाएं कार्यरत हैं. इनमें चिकित्सा और दंत चिकित्सा शाखा को शामिल नहीं किया गया है. उन्होंने बताया कि वर्ष 2017 में मार्च तक सेना में 35 महिला अधिकारियों को भर्ती किया गया जबकि नौसेना में यह संख्या एक और वायु सेना में 14 रही. 

भामरे ने बताया कि वर्ष 2011 में सरकार ने तीनों सेनाओं की विशिष्ट शाखाओं, अर्थात जज एड्वोकेट जनरल, और सेना की सैन्य शिक्षा कोर तथा नौसेना एवं वायु सेना में उनकी समकक्ष शाखाओं में, नौसेना में नौसैन्य कंस्ट्रक्टर और वायु सेना की लेखा शाखा में पुरुष एसएससीओ के साथ स्थायी कमीशन प्रदान करने के लिए महिला शॉर्ट सर्विस कमीशन अधिकारियों पर विचार करने की मंजूरी दे दी है. 
उन्होंने बताया कि मार्च 2016 में महिला शॉर्ट सर्विस कमीशन अधिकारियों को समुद्री टोह शाखा में पायलट के रूप में और नौसैन्य आयुध निरीक्षणालय संवर्ग में शामिल किए जाने के लिए मंजूरी दी गई है. 

वर्ष 2017 के मध्य से इन्हें शामिल किए जाने की योजना है. भामरे ने बताया कि भारतीय वायु सेना ने महिलाओं को लड़ाकू शाखा में पांच वर्ष की अवधि के लिए प्रयोग के आधार पर शामिल करने के लिए शॉर्ट सर्विस कमीशन स्कीम में संशोधन किया है. पहले बैच की तीन महिला अधिकारियों को लड़ाकू शाखा में 18 जून 2016 को कमीशन दिया गया था.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement