भारतीय वायुसेना को मिला पहला 'अपाचे' हेलीकॉप्टर, दुश्मन के इलाके में घुसकर मारने की क्षमता

वायुसेना में अपाचे के आने हेलीकॉप्टर विंग की ताकत में काफी इज़ाफ़ा होगा. इस हेलीकॉप्टर में वायुसेना के ज़रूरत के मुताबिक बदलाव भी किये गये हैं.

भारतीय वायुसेना को मिला पहला 'अपाचे' हेलीकॉप्टर, दुश्मन के इलाके में घुसकर मारने की क्षमता

वायुसेना में अपाचे के आने हेलीकॉप्टर विंग की ताकत में काफी इज़ाफ़ा होगा. 

नई दिल्ली :

भारतीय वायुसेना को पहला अपाचे हेलीकॉप्टर ( Apache Helicopter ) सौंप दिया गया है. अमेरिका के एरिज़ोना में बोइंग ने वायुसेना के एयर मार्शल ए एस बुटोला को हेलीकॉप्टर सौंपा. आपको बता दें कि 22 अपाचे हेलीकॉप्टर के लिये 2015 में भारत और अमेरिकी सरकार के बीच समझौता हुआ था. हेलीकॉप्टर का पहला बैच इसी साल जुलाई में आ जाएगा. फ़िलहाल इस हेलीकॉप्टर के ट्रेनिंग के लिये चुने गए एयर और ग्राउंड क्रू की ट्रेनिंग अमेरिकी सेना के अल्बामा एयर बेस पर हो रही है. वायुसेना में अपाचे के आने हेलीकॉप्टर विंग की ताकत में काफी इज़ाफ़ा होगा. 

lgpirrco

इस हेलीकॉप्टर में वायुसेना के ज़रूरत के मुताबिक बदलाव भी किये गये हैं. गौरतलब है कि अपाचे हेलीकॉप्टर से सटीक हमले किये जा सकते हैं. अपाचे दुश्मन के इलाके में भी घुसकर मार कर सकता है.  साथ ही इसके आने से वायुसेना के साथ थल सेना के ऑपरेशनल ताकत में कई गुना इज़ाफ़ा हो जाएगा. आपको बता दें कि फरवरी में ही अमेरिकी एयरोस्पेस कंपनी बोईंग ने भारतीय वायुसेना के लिए चार चिनूक सैन्य हेलिकॉप्टरों की आपूर्ति गुजरात में मुंद्रा बंदरगाह पर की थी.

करगिल युद्ध में पाकिस्तानी घुसपैठिसो से लोहा लेने वाले मिराज 2000 ने अपग्रेड होकर फिर भरी उड़ान...

चिनूक बहुद्देशीय, वर्टिकल लिफ्ट प्लेटफॉर्म हेलिकॉप्टर है जिसका इस्तेमाल सैनिकों, हथियारों, उपकरण और ईंधन को ढोने में किया जाता है. इसका इस्तेमाल मानवीय और आपदा राहत अभियानों में भी किया जाता है. राहत सामग्री पहुंचाने और बड़ी संख्या में लोगों को बचाने में भी इसका उपयोग किया जा सकता है. 

Video: है तैयार हमारी वायुसेना ! 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com