NDTV Khabar

इन्द्रा 2017 : आतंक के खिलाफ पहली बार हुआ रूस के साथ भारत की तीनों सेनाओं का युद्धाभ्यास

दोनों देशों की तीनों सेनाओं का संयुक्त युद्धाभ्यास 19 से 29 अक्टूबर तक रूस के ब्लादिवोस्तक शहर में चला

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
इन्द्रा 2017 : आतंक के खिलाफ पहली बार हुआ रूस के साथ भारत की तीनों सेनाओं का युद्धाभ्यास

भारत और रूस की तीनों सेनाओं ने संयुक्त युद्धाभ्यास किया.

खास बातें

  1. भारत के 900 और रूस के 100 सैनिकों ने हिस्सा लिया
  2. आतंकी हमला होने पर दोनों देशों ने मिलकर कार्रवाई करने के गुर सीखे
  3. दोनों देशों ने अनुभव साझा किए और एक-दूसरे की रणनीति सीखी
नई दिल्ली:

आतंक के खिलाफ भारत और रूस की तीनों सेनाओं के बीच युद्धाभ्यास " इन्द्रा 2017" खत्म हो गया.  अभ्यास का नाम 'इन्द्रा' इंडिया और रूस से मिलकर बना है. यह पहला मौका था जब भारत और रूस की सेना के तीनों अंगों ने साथ मिलकर अभ्यास किया. ये अभ्यास  जमीन, हवा और समंदर तीनों जगहों पर हुआ.19 से 29 अक्टूबर तक ये अभ्यास रूस के शहर ब्लादिवोस्तक में हुआ. दस दिनों तक इस अभ्यास में भारत के थल, वायु और नौसेना के 900 सैनिकों और रूस के 100 सैनिकों ने हिस्सा लिया.

वैसे 2003 से दोनों देशों की सेनाओं के बीच 17 बार इन्द्रा अभ्यास हुआ है लेकिन पहली बार सेना के तीनों अंगों ने एक साथ मिलकर अभ्यास किया. भारत  और रूस ने भी किसी भी देश के साथ ऐसा अभ्यास पहली बार किया है. अगर किसी तीसरे देश में आतंकी हमला होता है तो कैसे दोनों देश मिलकर कार्रवाई करेंगे, इसी के गुर दोनों देशों की सेनाओं ने आपस में सीखे और अनुभव साझा किए. एक-दूसरे की रणनीति सीखी  ताकि भविष्य की चुनौती से बेहतर तरीके से निपट सकें.   

 
indra 2017 india russia

आपको बता दें कि आतंक से निपटने के लिए भारत अमेरिका और चीन के साथ  सैन्य अभ्यास कर चुका है लेकिन किसी के साथ सेना के तीनों अंगों ने एक साथ मिलकर अभ्यास नहीं किया था. दिल्ली में रूस के राजदूत निकोलाय ने कहा कि रूस के पाकिस्तान और भारत के साथ अभ्यास को बराबरी पर रखकर नहीं देखा जा सकता. भारत के साथ सामरिक साझेदारी है जबकि पाकिस्तान के साथ ऐसा कुछ भी नहीं है. वहीं लेफ्टिनेंट जनरल सतीश दुआ ने कहा कि सेना का काम है किसी भी चुनौती से निपटने के लिए तैयार रहना और अब ये काम सरकार का है वो सेना का इस्तेमाल कहां और कैसे करती है.
टिप्पणियां

VIDEO : अमेरिका और जापान के साथ अभ्यास


वैसे भी रूस भारत का पुराना और विश्वासनीय रक्षा सहयोगी रहा है. ऐसे में इस सैन्य अभ्यास  के जरिए एक बार फिर दोनों देशों की सेनाओं के बीच आपसी संबध व भरोसा और मजबूत होगा. इन्द्रा अभ्यास भविष्य में होने वाले किसी भी युद्धाभ्यास के लिए एक मिसाल होगा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement