खुफिया एजेंसियों का अलर्ट, अयोध्‍या में 5 अगस्‍त के भूमिपूजन कार्यक्रम को निशाना बना सकते हैं आतंकी

अयोध्‍या में 5 अगस्‍त को राम जन्‍मभूमि मंदिर निर्माण के भूमि पूजन कार्यक्रम और स्‍वतंत्रता दिवस समारोह में आतंकवादी हमले की साजिश रच रहे हैं. सूत्रों के मुताबिक, खुफिया एजेंसियों ने इसे लेकर अलर्ट जारी किया है.

खुफिया एजेंसियों का अलर्ट, अयोध्‍या में 5 अगस्‍त के भूमिपूजन कार्यक्रम को निशाना बना सकते हैं आतंकी

राम मंदिर निर्माण के भूमिपूजन कार्यक्रम में पीएम के भी शामिल होने की संभावना है

नई दिल्ली:

अयोध्‍या (Ayodhya) में 5 अगस्‍त को राम जन्‍मभूमि मंदिर निर्माण के भूमि पूजन कार्यक्रम (Bhoomi poojan of Ram temple) और स्‍वतंत्रता दिवस समारोह में आतंकवादी हमले की साजिश रच रहे हैं. सूत्रों के मुताबिक, खुफिया एजेंसियों ने इसे लेकर अलर्ट जारी किया है. अलर्ट के मुताबिक, पाकिस्‍तान की खुफिया एजेंसी ISI ने आतंकी हमले की पूरी योजना तैयार की, इसके तहत लश्‍कर और जेश के आतंकियों को अफगानिस्‍तान में भेजकर विशेष ट्रेनिंग कराई गई है. सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार, इन आतंकवादियों को तीन से पांच आतंकवादियों के ग्रुप में अलग-अलग ग्रुप में भारत भेजा गया है.

अयोध्‍या में चांदी के सिंहासन पर विराजमान हुए रामलला, वैदिक मंत्रोच्‍चार से हुई पूजा-अर्चना

आईएसआई ने इन आतंकियों को अलग-अलग हमला करने का फरमान सुनाया है ताकि इसे भारत का आंतरिक मामला बताया जा सके. राम जन्‍मभूमि मंदिर के कार्यक्रम के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narender Modi) विशेष रूप से अयोध्‍या पहुंच सकते हैं. इसके अलावा बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता लालकृष्‍ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती और आरएसएस के कई नेताओं सहित कई धार्मिक शख्सियतों के भी कार्यक्रम में मौजूद रहने की संभावना है. 


भगवान राम और अयोध्‍या पर PM केपी शर्मा ओली के बयान पर नेपाल सरकार ने दी सफाई

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट के अनुसार वीआइपी भी आतंकी संगठनों के निशाने पर बताए गए हैं.खुफिया एजेंसियों की इस रिपोर्ट के बाद, अयोध्या, जम्मू और कश्मीर और राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में विशेष सुरक्षा दल तैनात करने के निर्देश दिए गए हैं.खुफिया इनपुट के अनुसार, राममंदिर के भूमि पूजन कार्यक्रम के अलावा 15 अगस्‍त के स्‍वतंत्रता दिवस समारोह और अनुच्‍छेद 370 के तहत जम्‍मू-कश्‍मीर का विशेष दर्जा समाप्‍त करने की वर्षगांठ के मौके पर भी आतंकी हमला हो सकता है. जम्‍मू-कश्‍मीर का विशेष दर्जा खत्‍म होने की वर्षगांठ भी पांच अगस्‍त को ही है.