NDTV Khabar

असम में तैनात आईपीएस अधिकारी का भाई बना हिजबुल मुजाहिदीन का आतंकी

इस युवक का नाम शैम्सुल है और इसके बड़े भाई इनाम उल हक मेंगनू 2012 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
असम में तैनात आईपीएस अधिकारी का भाई बना हिजबुल मुजाहिदीन का आतंकी

शैम्सुल हक 22 मई को हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हुआ है.

खास बातें

  1. सोशल मीडिया में तस्वीर हुई वायरल
  2. असम में तैनात है आईपीएस अधिकारी
  3. मेडिकल सर्जरी का छात्र है आरोपी
गुवाहाटी/श्रीनगर:

असम में तैनात एक आईपीएस अधिकारी के भाई की फोटो कश्मीर में वायरल हुई जिसमें वह एके-47 लिये खड़ा है और बताया जा रहा है कि वह आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन  में शामिल हो गया है. 25 साल के इस युवक की तस्वीर सोशल मीडिया में आने के बाद असम कई पुलिसकर्मी और उनके परिवार के लोग हैरान हैं. उनको विश्वास नहीं हो रहा है कि उनके बीच तैनात एक अधिकारी का भाई अब आतंकवादी है. 

UN की रिपोर्ट में हुआ खुलासा, आतंकी संगठन पाकिस्तानी बच्चों को बना रहे हैं आत्मघाती

इस युवक का नाम शैम्सुल है और इसके बड़े भाई इनाम उल हक मेंगनू 2012 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं. उनको असम-मेघालय कॉडर मिल हुआ है और अभी उनकी तैनातगी असम पुलिस कमांडो बटालियन में है. मिली जानकारी के मुताबिक शैम्सुल हक मेंगनू 22 मई को हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हुआ है इसी दिन से वह गायब था. उसको आतंकी संगठन की ओर से एक कोड नेम 'बुरहान सानी' दिया गया है.


टिप्पणियां

कुलगाम में पुलिस भर्ती के दौरान उमड़े नौजवान​

शैम्सुल इस समय जम्मू-कश्मीर के एक सरकारी कॉलेज में मेडिकल सर्जरी में ग्रेजुएशन कर रहा है और वहीं से वह गायब हुआ था. शैम्सुल शोपियां के जिले के द्रगौड गांव का रहने वाला है. हालांकि अभी तक उसके बारे में पुलिस की ओर से कोई भी जानकारी नहीं दी गई है. वहीं नाम न बताने की शर्त पर एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि यहां पर जब कोई शख्स आतंकी संगठन में शामिल होता है तो वह सोशल मीडिया में बंदूक लहराते हुये फोटो शेयर करता है.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement