NDTV Khabar

ISI एजेंट आफताब अली को जासूसी के बदले रुपए देने वाला जावेद मुंबई से गिरफ्तार

9 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
ISI एजेंट आफताब अली को जासूसी के बदले रुपए देने वाला जावेद मुंबई से गिरफ्तार

फैजाबाद से गिरफ्तार ISI एजेंट आफताब और मुंबई में गिरफ्तार अल्ताफ

नई दिल्ली: महाराष्ट्र और यूपी एटीएस द्वारा संयुक्त कार्रवाई करते हुए बुधवार को गिरफ्तार किए गए अल्‍ताफ कुरैशी के सहयोगी जावेद (पुत्र इकबाल निवासी युसुफ मंज़िल, अग्री पाडा, मुंबई) को आज सुबह गिरफ्तार किया गया है. जावेद को ही पाकिस्तान से पैसा जमा करने के निर्देश मिलते थे और उसके बताने पर अल्ताफ ने खाते में पैसे जमा कराए थे. उसके पास से पुख्ता प्रमाण मिले हैं कि उसने पाकिस्तान स्थित एजेंट के निर्देश पर आफताब (फ़ैज़ाबाद) के खाते में जासूसी के एवज़ में पैसा जमा किया था.
 
महाराष्ट्र ATS के साथ मिलकर उससे पूछताछ की जा रही है. अन्य एजेंटों के भी नाम खुलने की आशा है. दोनों अभियुक्त अल्ताफ कुरैशी और जावेद को आज मुंबई में न्यायालय में पेश कर ट्रांज़िट रिमांड का आदेश ले कर लखनऊ लाया जाएगा.

इससे पूर्व यूपी एटीएस ने फैज़ाबाद और मुंबई में छापेमारी कर आईएसआई के 2 संदिग्ध एजेंट गिरफ्तार किए थे और इनसे 70 लाख रुपये भी बरामद हुए हैं. यूपी एटीएस के आईजी असीम अरुण के मुताबिक खुफिया जानकारी के आधार पर पहले फैज़ाबाद के आफताब अली को गिरफ्तार किया गया. आफताब, फैज़ाबाद के ख्वासपुरा का रहने वाला है. पूछताछ में पता चला कि आफताब अली ने पाकिस्तान में ISI से जासूसी का प्रशिक्षण लिया है और वो पाकिस्तान उच्चायोग के अधिकारी से संपर्क में रहा है. उसके फोन से कैंट क्षेत्र की तस्वीरें और फोन चैट से भी कई अहम जानकारियां और सबूत मिले हैं.

वहीं यूपी एटीएस ने मुंबई एटीएस के साथ छापा मारकर इसी मोड्यूल के एक दूसरे जासूस अल्ताफ भाई कुरैशी को मुंबई के पापड़ वाड़ी इलाके से गिरफ्तार किया. अल्ताफ मुंबई से आफताब को जासूसी के लिए पैसे भेजता था. उसने कई बार आफताब के खाते में पैसे डाले. ये पैसे उसे पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई मुहैया करा रही थी. अल्ताफ मूल रूप से गुजरात के राजकोट का रहने वाला है. वो हवाला का कारोबार भी करता है. अब एटीएस की टीम दोनों संदिग्ध आईएसआई जासूसों से पूछताछ कर रही है और पता लगा रही है कि भारत में इनके नेटवर्क से कितने लोग जुड़े हैं और पाकिस्तान में ये लोग किसके संपर्क में थे.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement