ITBP ने छत्तीसगढ़ के कोंडागांव में स्थानीय बच्चों के लिए शुरू की 'स्मार्ट' क्लासेज

ये क्लासेज कंप्यूटर और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों और इंटरनेट के माध्यम से चलाए जा रहे हैं और आईटीबीपी के जवानों ने स्वयं इसके लिए पहल करते हुए सभी मूलभूत उपकरणों आदि को इकट्ठा किया है.

ITBP ने छत्तीसगढ़ के कोंडागांव में स्थानीय बच्चों के लिए शुरू की 'स्मार्ट' क्लासेज

अभी लगभग 50 बच्चे इन क्लासेज का लाभ उठा रहे हैं

कोंडागांव (छत्तीसगढ़):

भारत - तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) की 41वीं बटालियन ने छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में नक्सल प्रभावित तैनाती वाले इलाके हदेली(Hadeli), कोंडागांव (Kondagaon) और आस पास के गांवों के स्कूली बच्चों के लिए स्मार्ट क्लासेज (Smart Classes) शुरू की हैं. ये क्लासेज कंप्यूटर और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों और इंटरनेट के माध्यम से चलाए जा रहे हैं और आईटीबीपी के जवानों ने स्वयं इसके लिए पहल करते हुए सभी मूलभूत उपकरणों आदि को इकट्ठा किया है. अभी लगभग 50 बच्चे इन क्लासेज का लाभ उठा रहे हैं. स्कूल की कक्षाओं के बाद दोपहर में आईटीबीपी कैंप में बने क्लास रूम में ये स्मार्ट कक्षाएं चलाई जाती हैं.

छत्तीसगढ़ : नक्सल प्रभावित गांव में तीरंदाजी में प्रशिक्षित किये गए छात्रों का शानदार प्रदर्शन

चूंकि इलाके में मोबाइल नेटवर्क थोड़ा कमज़ोर है, इसके लिए जवान अपने मोबाइल फोन को पेड़ों के ऊपर या किसी बांस या पोल के माध्यम से ऊंचाई देते हैं और कक्षा में रखे लैपटॉप को वाई फाई से नेटवर्क मिल जाता है. प्रोजेक्टर से लार्ज स्क्रीन इफेक्ट तैयार किया जाता है और यू ट्यूब समेत कई अन्य ऑन लाइन माध्यमों से बच्चों को ज्ञानवर्धक और मनोरंजक माहौल में पढ़ाया जाता है.

लद्दाख के बच्चे ने आईटीबीपी जवानों को किया सैल्यूट, वीडियो हुआ वायरल


इसके साथ जवान कक्षा के बच्चों से स्थानीय भाषा हल्बी का भी ज्ञान प्राप्त करते हैं. बच्चों को मूलतः गणित और अंग्रेज़ी पढ़ाई जाती है. इन क्लासेज को आईटीबीपी के अधिकारी और जवान स्वयं संचालित करते हैं, कई जवानों को पूर्व में शिक्षण का अनुभव है. साथ ही, ऑनलाइन अन्य आईटीबीपी के कैंप के अधिकारी इन बच्चों को पढ़ाते हैं और प्रेरित करने के लिए अपने अनुभव साझा करते हैं.

मासूम के हौसले को ITBP का सलाम, स्थानीय बटालियन ने किया सम्मानित

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com