सुरक्षा कारणों से भारत के कई एयरपोर्ट अलर्ट पर: 8 हवाई अड्डों को 3 महीने बंद रखने का आदेश वापस

जैश के आतंकी कैंपों पर भारतीय वायुसेना के हवाई हमले के बाद पाकिस्तान और भारत के बीच तनातनी बढ़ गई है.

नई दिल्ली:

पाकिस्तान की सीमा में घुसकर जैश के आतंकी कैंपों पर भारतीय वायुसेना के हवाई हमले के बाद पाकिस्तान और भारत के बीच तनातनी बढ़ गई है. सीमा पर पाकिस्तानी विमान की हरकतों के मद्देनजर सुरक्षा के लिहाज से एहतियात बरतते हुए भारत और पाकिस्तान की सीमा से जुड़े एयरपोर्ट और एयरस्पेस को हाई अलर्ट पर कर दिया गया है.  सूत्रों से मिली जानकारी के मुतािक, जम्मू, श्रीनगर, लेह और चंडीगढ़ एयर स्पेस को बंद कर दिया गया था मगर अब इस आदेश को वापस ले लिया गया है. सुबह में कई उड़ानों को रोक दिया गया था. नए आदेश के मुताबिक उन सभी नौ हवाईअड्डों पर उड़ानों का संचालन अब फिर से शुरू कर दिया गया है जहां नागरिक उड़ानों का संचालन रोका गया था.

डीजीसीए ने 4 राज्यों के 8 एयरपोर्ट को 3 महीने तक बंद रखने का आदेश जारी किया था, मगर अब डीजीसीए ने उस आदेश को वापस ले लिया है और कहा कि अब हवाई सेवा बहाल हो जाएंगी. पहले के आदेश के मुताबिक, 27 फरवरी से मई माह तक जम्मू एवं कश्मीर तथा पंजाब के सभी एयरपोर्ट बंद रहेंगे. लेकिन अब सभी हवाई अड्डे खोल दिए गये हैं,.

महबूबा मुफ्ती बोलीं, अगर अनुच्छेद 35-ए में बदलाव हुआ तो लोग तिरंगे की जगह कोई और झंडा थाम सकते हैं

भारत के लड़ाकू जेट द्वारा नियंत्रण रेखा पार कर मंगलवार को पाकिस्तान के भीतर एक बड़े आतंकी शिविर को नष्ट करने के बाद ऐसी आशंका है कि उस पार से जवाबी कार्रवाई की जा सकती है. इसी चेतावनी को देखते हुए इन इलाकों को हाई अलर्ट पर रख दिया गया है. वहीं, पाकिस्तान ने भी अपने कई एयरपोर्ट और एयरस्पेस बंद कर दिए हैं. पाकिस्तान में अभी तक 5 एयरपोर्ट बंद कर दिया है पाकिस्तान ने.

ऐसी रिपोर्ट है कि पाकिस्तानी फाइटर जेट्स ने जम्मू-कश्मीर के पूंछ और रजौरी सेक्टरम ने भारतीय एयर स्पेस का उल्लंघन किया है. ऐसा बताया जा रहा है कि जिस तरह से भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान की सीमा में जाकर जैश के कैंप को तबाह किया है, वैसी ही कुछ हरकत पाकिस्तान कर सकता है.

वहीं, पाक वायुसेना की ओर से सीमा उल्लंघन की खबरों के बीच पाकिस्तान सरकार ने दावा किया है कि 'आज हमने पाकिस्तानी सीमा में रहकर ही नियंत्रण रेखा पर हमले किए. यह बदला नहीं है, हम सिर्फ यह दिखाना चाहते थे कि हम आत्मरक्षा में सक्षम हैं. हमारा लक्ष्य असैन्य था, ताकि जानी नुकसान न हो. हम तनाव को बढ़ाना नहीं चाहते."

चीन में सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान को किया बेनकाब, बोलीं- पुलवामा पर जैश के कबूलनामे को भी नहीं माना

दरअसल, भारत ने मंगलवार को सूर्य की किरण उगने से पहले बड़ी कार्रवाई करते हुए पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े शिविर को तबाह कर दिय,  जिसमें लगभग 300 आतंकवादी और उनके प्रशिक्षक मारे गए. पाकिस्तान ने पुलवामा आतंकी हमले के बाद इन आतंकवादियों को उनकी सुरक्षा के लिए इस शिविर में भेजा था. करीब 20 मिनट से भी कम समय में अंजाम दिया गया भारतीय वायुसेना का यह हमला अत्यंत त्वरित और सटीक था.

भारत ने पाक में जैश के आतंकी कैपों पर की बमबारी, मिराज ने किया 300 आतंकियों का सफाया, 24 घंटे की 24 बड़ी बातें

सरकार ने कहा कि हमला किसी सैन्य ठिकाने पर नहीं, केवल आतंकी ठिकाने पर किया गया और इसे ‘हमलों को रोकने' के उद्देश्य से ‘‘ऐहतियात'' के तौर पर अंजाम दिया गया. उन्होंने कहा कि यह ठिकाना जंगल में एक पहाड़ी पर स्थित था और पांच सितारा रिजॉर्ट शैली में बना था. इसके चलते यह ‘‘आसान निशाना'' बन गया तथा आतंकवादियों को नींद में ही मौत के आगोश में सुला दिया गया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO : आतंकी संगठन जैश के ठिकाने तबाह