जम्मू-कश्मीर से अलग हुआ लद्दाख, अब धरती के स्वर्ग में होंगे ये बड़े बदलाव

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से धारा 370 हटने के साथ ही इसे केंद्र शासित प्रदेश घोषित कर दिया गया है. जम्मू-कश्मीर से लद्दाख के अगल होने के बाद इसमें कई बदलाव देखने को मिलेंगे.

जम्मू-कश्मीर से अलग हुआ लद्दाख, अब धरती के स्वर्ग में होंगे ये बड़े बदलाव

जम्मू-कश्मीर में देश के अन्य राज्यों के लोग भी जमीन लेकर बस सकेंगे.

नई दिल्ली:

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से धारा 370 हटा (Article 370) दी गई है. जम्मू-कश्मीर अब केंद्र शासित प्रदेश (Union Territory) बन गया है. साथ ही लद्दाख (Ladakh) को जम्मू-कश्मीर से अलग किया गया है. जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद अब देश में कुल 9 केंद्र शासित प्रदेश हो गए हैं. जम्मू-कश्मीर से लद्दाख (Ladakh) के अगल होने पर कई बदलाव देखने को मिलेंगे. जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) का क्षेत्रफल, आबादी और वहां के नियम कानून सब बदल जाएगा.  2011 की जनगणना के मुताबिक जम्मू-कश्मीर (लद्दाख को मिलाकर) की जनसंख्या 12,541,302 (1 करोड़ 25 लाख 41 हजार 302)  है. लेकिन लद्दाख के अलग होने के बाद अब जम्मू-कश्मीर की जनसंख्या 12,267,013 (1 करोड़ 22 लाख 67 हजार 13) हो जाएगी. साथ ही इसके क्षेत्रफल में भी बदलाव होगा. जम्मू-कश्मीर का क्षेत्रफल (लद्दाख को मिलाकर) 222,236 किलोमीटर स्क्वायर है, लेकिन लद्दाख को हटाकर अब जम्मू-कश्मीर का क्षेत्रफल 163,040 किलोमीटर स्क्वायर हो जाएगा.

अब जम्मू-कश्मीर (Jammu Kasmir) में देश के अन्य राज्यों के लोग भी जमीन लेकर बस सकेंगे. साथ ही अब कश्मीर का अब अलग झंडा नहीं होगा यानी कि वहां भी अब तिरंगा लहराएगा. जम्मू-कश्मीर में स्थानीय लोगों की दोहरी नागरिकता समाप्त हो जाएगी. जम्मू-कश्मीर की लड़कियों को अब दूसरे राज्य के लोगों से भी शादी करने की स्वतंत्रता होगी और दूसरे राज्य के पुरुष से शादी करने पर उनकी नागरिकता खत्म नहीं होगी.

जम्‍मू-कश्‍मीर से अलग होकर देश का नया केंद्र शासित प्रदेश बना लद्दाख, जानिए इसके बारे में

जम्मू-कश्मीर एक मुस्लिम बहुल राज्य है, लेकिन इसके भागों जम्मू और कश्मीर में काफी विवधता है. कश्मीर की ज्यादा आबादी मुस्लिम है. वहीं, जम्मू की आबादी 65 प्रतिशत हिंदू और 30 प्रतिशत मुस्लिम है. कश्मीर घाटी में जल की बहुलता है. अनेक नदी नालों और सरोवरों के अतिरिक्त कई झीलें हैं. वुलर मीठे पानी की भारतवर्ष में विशालतम झील है. डल झील कश्मीर के मुख्य आकर्षणों में से एक है.

Newsbeep

बता दें कि जम्मू-कश्मीर पर्यटन का बड़ा केंद्र है. जम्मू में हर साल माता वैष्णों देवी के दर्शन के लिए भक्तों की लंबी लाइनें लगती हैं. वहीं, बाबा अमरनाथ के दर्शन के समय पूरे देश से बड़ी संख्या में श्रद्धालु कश्मीर आते हैं. कश्मीर के अधिकांश क्षेत्र पर्वतीय हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


कश्मीर पर बड़ा फैसला: धारा 370 हटने पर महबूबा मुफ्ती बोलीं- आज भारतीय लोकतंत्र का स्याह दिन