NDTV Khabar

बेटी इल्तिजा की मांग के बाद महबूबा मुफ्ती को श्रीनगर के सरकारी क्वार्टर में किया गया शिफ्ट

जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (Mehooba Mufti) को श्रीनगर के एक सरकारी क्वार्टर में शिफ्ट किया गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बेटी इल्तिजा की मांग के बाद महबूबा मुफ्ती को श्रीनगर के सरकारी क्वार्टर में किया गया शिफ्ट

जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (Mehooba Mufti) को श्रीनगर के एक सरकारी क्वार्टर में शिफ्ट किया गया है. पीडीपी (PDP) प्रमुख महबूबा मुफ्ती को चश्मे शाही गेस्ट हाउस से लालचौक इलाके में शिफ्ट किया गया है. महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिजा ने ठंड को लेकर उन्हें दूसरी जगह शिफ्ट करने की मांग की थी. बता दें कि हाल ही में महबूबा मुफ्ती की बेटी ने प्रशासन से कहा था कि उनकी मां को ऐसी जगह पर रखा जाए जो घाटी की हाड़ कंपाने वाली सर्दी के लिहाज से उपयुक्त हो. इल्तिजा मुफ्ती ने श्रीनगर के उपायुक्त को पत्र लिखा था. इसमें उन्होंने कहा था कि महबूबा मुफ्ती को कुछ भी होता है तो इसका जिम्मेदार केंद्र होगा.


पत्र में इल्तिजा ने लिखा था, ‘जैसा कि आप जानते हैं कि जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री, मेरी मां महबूबा मुफ्ती पांच अगस्त से हिरासत में हैं. उनकी तबियत ठीक नहीं है. इसलिए एक चिकित्सक ने हाल में उनकी कई जांच कीं जिनमें पता चला कि उनका विटामिन डी का स्तर, हीमोग्लोबिन और कैल्शियम का स्तर बहुत कम है.' उन्होंने कहा कि महबूबा मुफ्ती को ऐसे स्थान पर स्थानांतरित किया जाना चाहिए जो यहां की सर्दियों के लिहाज से उपयुक्त हो.

घाटी में बंद स्कूलों को लेकर पीएम मोदी पर भड़कीं महबूबा मुफ्ती, कहा- आप किसी के मौलिक अधिकार के साथ...

इल्तिजा ने लिखा, ‘फिलहाल उन्हें जहां रखा गया है, वह कश्मीर के सर्द मौसम के लिहाज से उपयुक्त नहीं है. इन बातों को ध्यान में रखते हुए मैं आपसे अनुरोध करती हूं कि उन्हें अधिक उपयुक्त स्थान पर भेजा जाए. मैं उम्मीद करती हूं कि आप इस समस्या पर तत्काल ध्यान देंगे.' महबूबा, जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला और उनके बेटे उमर अब्दुल्ला पांच अगस्त से श्रीनगर में हिरासत में हैं.

टिप्पणियां

VIDEO: महबूबा मुफ्ती की तरफ से उनकी बेटी ने साधा केंद्र सरकार पर निशाना

(इनपुट: भाषा से भी)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... इमरान खान बोले- पीएम मोदी के सामने रखा था शांति प्रस्ताव लेकिन झेलना पड़ा अवरोध

Advertisement