हरियाणा में BJP की सहयोगी पार्टी JJP में 'बगावत'? विधायक बोले- मॉल में हुआ गठबंधन, हमें पता ही नहीं था

हरियाणा की राजनीति में घमासान छिड़ गया है. जननायक जनता पार्टी (JJP) के उपाध्यक्ष और विधायक रामकुमार गौतम (Ram Kumar Gautam) ने पार्टी पद से इस्तीफा दे दिया है.

हरियाणा में BJP की सहयोगी पार्टी JJP में 'बगावत'? विधायक बोले- मॉल में हुआ गठबंधन, हमें पता ही नहीं था

JJP अध्यक्ष दुष्यंत चौटाला हरियाणा के उप-मुख्यमंत्री हैं. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • JJP MLA ने डिप्टी CM के खिलाफ खोला मोर्चा
  • रामकुमार गौतम ने जाहिर की नाराजगी
  • कहा- मॉल में हुई थी गठबंधन की बातचीत
चंडीगढ़:

हरियाणा की राजनीति में घमासान छिड़ गया है. जननायक जनता पार्टी (JJP) के उपाध्यक्ष और विधायक रामकुमार गौतम (Ram Kumar Gautam) ने पार्टी पद से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने कहा कि दुष्यंत चौटाला (Dushyant Chautala) को भूलना नहीं चाहिए कि वह पार्टी विधायकों की वजह से उप-मुख्यमंत्री बने हैं. इसी के साथ उन्होंने दुष्यंत द्वारा बीजेपी के साथ गठबंधन को लेकर भी दुख जाहिर किया है.

JJP विधायक रामकुमार गौतम ने कहा, 'JJP और बीजेपी का गठबंधन हमारी पार्टी के अधिकतर नेताओं की जानकारी के बगैर हुआ था. मैं बहुत दुखी हूं कि उन लोगों ने एम्बियंस मॉल में गठबंधन को लेकर बातचीत की थी और जब हमें इसका पता चला तो हमें बहुत बुरा लगा. जनता को दुख पहुंचा और सभी विधायक दुखी थे. सभी अच्छे विभाग दुष्यंत ने ले लिए. बाकी दूसरे विधायकों का क्या. क्या उन लोगों को जनता ने वोट नहीं दिया.'

हरियाणा: CM मनोहर लाल खट्टर ने मंत्रीपरिषद का किया विस्तार, 10 विधायकों ने ली शपथ

रामकुमार गौतम ने डिप्टी सीएम पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा, 'उसने (दुष्यंत चौटाला) कहा कि वह हम लोगों को तीन महीने तक परखेगा. तुम होते कौन हो हमें परखने वाले.' उन्होंने कहा कि डिप्टी सीएम ने 11 मंत्रालय अपने पास रखे हैं और सिर्फ पार्टी के एक विधायक को महत्वहीन मंत्रालय का जूनियर मिनिस्टर बनाया है. दुष्यंत चौटाला सत्ता में आने के बाद अपने परिवार को भूल गए.

हरियाणा में JJP के साथ पोर्टफोलियो-शेयरिंग फार्मूले से BJP के वरिष्ठ नेता अनिल विज नाखुश

हरियाणा में JJP और बीजेपी गठबंधन के बाद माना जा रहा था कि रामकुमार गौतम को मंत्रालय जरूर दिया जाएगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ. उन्होंने आगे कहा, 'मैं चुनाव नहीं लड़ना चाहता था लेकिन दुष्यंत और उसके पिता अजय चौटाला चाहते थे कि मैं उनके साथ आऊं. वह जानते थे कि सिर्फ एक मैं ही हूं जो निवर्तमान विधायक कैप्टन अभिमन्यु को हरा सकता हूं.'

हरियाणा में फिर खट्टर सरकार: मनोहर लाल खट्टर ने ली CM पद की शपथ, दुष्यंत चौटाला बने उप मुख्यमंत्री

उन्होंने आगे कहा कि वह पार्टी नहीं छोड़ेंगे. रामकुमार गौतम ने कहा, 'जनता ने मुझे चुना है. मेरी उनके प्रति जिम्मेदारी है. अगर मैं अपनी पार्टी से इस्तीफा देता हूं तो मुझे विधायकी छोड़नी पड़ेगी और मैं अपने क्षेत्र को बीच रास्ते में नहीं छोड़ सकता. लिहाजा मैं अपने खून और पसीने से पार्टी को आगे बढ़ाऊंगा.' उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने इस बारे में कहा कि उन्हें मीडिया के जरिए ही रामकुमार गौतम के इस्तीफे की जानकारी मिली है. पहले वह उनसे बात करेंगे.

Newsbeep

VIDEO: संजय राउत के बयान पर बोले दुष्यंत चौटाला- ऐसे बयानों से उनका कद बढ़ता नहीं है

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com